इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

असली प्रैक्टिकल आयुर्वेदिक देसी घरेलू नुस्खे – अभी SUBSCRIBE करें


 असली प्रैक्टिकल आयुर्वेदिक नुस्खे Asli Practical Ayurvedic Desi Ghrelu Nuskhe

Kerala ka Prasiddha Tyouhar Onam | केरला का प्रसिद्ध त्यौहार ओणम | Onam The Famous Festival of Kerla

ओणम (Onam)
ओणम केरल राज्य में मनाया जाने वाला एक प्रसिद्ध त्यौहार हैं. केरल में ओणम का त्यौहार लगातार दस दिनों तक मनाया जाता हैं. मलयाली कैलंडर के अनुसार ओणम प्रत्येक वर्ष कोलावर्षम का पहला महीना जिसे “ छिंगम ” कहा जाता हैं. इस महीने के पहले दस दिनों तक यह उत्सव मनाया जाता हैं. हिन्दू कैलेण्डर के अनुसार यह त्यौहार अगस्त तथा सितम्बर महीने के बीच में मनाया जाता हैं. ओणम पर्व की शुरुआत जिस दिन से होती हैं. उसे “ अथम ” कहा जाता हैं तथा जिस दिन यह पर्व समाप्त होता हैं. उसे थिरुओनम या तिरुओणम कहा जाता हैं. CLICK HERE TO READ MORE ABOUT भारत में नया साल ...
Kerala ka Prasiddha Tyouhar Onam
Kerala ka Prasiddha Tyouhar Onam


ओणम का अर्थ (Meaning of Onam Word) – ओणम का अर्थ श्रावण होता हैं. इस त्यौहार को श्रावण माह में केरल राज्य में चाय, अदरक, इलायची, कालीमिर्च, धान की फसल के तैयार होने की ख़ुशी में मनाया जाता हैं. ओणम के त्यौहार में विशेष श्रावण के देवता तथा फूलों की देवी को ही पूजा जाता हैं.

ओणम का त्यौहार कैसे मनाया जाता हैं (How to Celebrate Onam Festival)
ओणम के त्यौहार की शुरुआत महिलाओं के द्वारा पहले दिन अपने घर को फूलों से सजाकर तथा फूलों की रंगोली बनाकर की जाती हैं. केरल की भाषा में इस रंगोली को “ओणमपुक्कलम” कहा जाता हैं. महिलाऐं इस रंगोली को गोलाकार में बनाकर इसके बीच में एक दिया जलाकर रख देती हैं. उसके बाद लगातार दस दिनों तक इस रंगोली में और फूलों का इस्तेमाल करके इसे आकर्षक बना देती हैं. CLICK HERE TO READ MORE ABOUT गुडी पड़वा नव वर्ष की शुरुआत ...
केरला का प्रसिद्ध त्यौहार ओणम
केरला का प्रसिद्ध त्यौहार ओणम

ओणम पर्व के नौवें दिन सभी घरों में विष्णु जी की मूर्ति की स्थापना की जाती हैं तथा उनकी पूजा – अर्चना की जाती हैं. विष्णु भगवान की पूजा करने के बाद घर की औरते एकत्रित होकर गोलधारा बनाकर सामूहिक नृत्य करती हैं तथा गीत गाती हैं. गोलाई में नृत्य करने की यह परम्परा “थप्पतकली” कहलाती हैं. ओणम के नौवें दिन ही शाम को घर में गणेश जी की और श्रावण देवता की मूर्ति स्थापित की जाती हैं. मूर्तियों को स्थापित करने के बाद इनके समक्ष शुद्ध घी के दीपक जलाएं जाते हैं तथा एक विशेष प्रकार का भोग जिसे “पूवड” कहा जाता उसका भोग लगाया जाता हैं. 

तिरुओणम या थिरुओनम
थिरुओनम या तिरुओणम ओणम त्यौहार का दसवा दिन होता हैं. यह दिन बेहद ही महत्वपूर्ण होता हैं. इस दिन केरल राज्य के सभी घरों में पारम्परिक पकवान बनायें जाते हैं. जैसे – गुड़ और दूध का प्रयोग कर पायसम बनाया जाता हैं. चावल के आटे में विभिन्न प्रकार की सब्जियों को मिलाकर अवियल बनाया जाता हैं, केले का हलवा, नारियल की चटनी बनाई जाती हैं. इसी प्रकार पूरे 64 प्रकार के पकवान बनाएं जाते हैं. जिन्हें ओनसद्या कहा जाता हैं. इन सभी पकवानों को बनाने के बाद इन्हें केले के पत्तों पर परोसा जाता हैं.
Onam The Famous Festival of Kerla
Onam The Famous Festival of Kerla


ओणम के त्यौहार पर नृत्य (Dance on Onam Festival) – केरल के लोग ओणम के त्यौहार को नाचते – गाते मानते हैं. इस दिन पूरे केरल राज्य में शेर नृत्य, कुचीपुड़ी, गजनृत्य, कुमट्टी काली, पुलीकली तथा कथकली जैसे लोकनृत्य किये जाते हैं.

ओणम तथा अन्य त्यौहारों के बारे में अधिक जानने के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते है.
 ओणम
 ओणम 


    

Kerala ka Prasiddha Tyouhar Onam, केरला का प्रसिद्ध त्यौहार ओणम, Onam The Famous Festival of Kerla, Onam, ओणम, Anam ka Artha, तिरुओणम और थिरुओनम, Onam Par Loknritya, Onam Par Vishesh Pakvaan, Onam par Foolon ki Rangoli.


Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT