इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Pooja ke Vishesh Mantra Or Devi Devataon ke Priya Pushp | पूजा के विशेष मन्त्र तथा देवी देवताओं के प्रिय पुष्प

पूजा के विशेष मन्त्र तथा देवी – देवतों के प्रिय पुष्प ( Special Mantra And Flower for God Worship)

मानस पुष्प की कथा
नारद मुनि के अनुसार देवी – देवताओं की पूजा करने के लिए सर्वश्रेष्ठ पुष्प मानस पुष्प हैं. एक प्राचीन कथा के अनुसार जब देवराज इन्द्र नारद मुनि से देवी – देवतों को चढ़ाने के लिए कौन – सा पुष्प श्रेष्ठ हैं. इस बारे में जानना चाहते थे. तो उनके सवाल का जवाब देते हुए नारद मुनि ने देवराज इन्द्र से कहा कि हजारों – करोड़ों बाध्य फूलों को चढाने से जो फल प्राप्त होता हैं. वह फल अपनी आत्मा को फूल (मानस पुष्प ) रूप में ईश्वर को समर्पित करने से प्राप्त हो जाता हैं. इसलिए देवी – देवतों को चढाने के लिए सबसे उत्तम पुष्प मानस पुष्प हैं. CLICK HERE TO READ MORE ABOUT भगवान को फूल कैसे अर्पित करें ...
Pooja ke Vishesh Mantra Or Devi Devataon ke Priya Pushp
Pooja ke Vishesh Mantra Or Devi Devataon ke Priya Pushp


लेकिन आज के समय में शायद ही कोई व्यक्ति ऐसा होगा. जो अपनी आत्मा को फूल के रूप में ईश्वर को अर्पित कर सके. इसलिए सभी व्यक्ति प्रकृति के द्वारा उत्पन्न सुगन्धित फूलों को ही चढ़ाना श्रेष्ठ समझते हैं. शास्त्रों के अनुसार जब तक मनुष्य के मन में ईश्वर के प्रति आस्था या विश्वास नहीं होगा तब तक वह चाहें जितने भी प्रयत्न कर लें, उनके समक्ष अमूल्य वस्तु चढ़ा लें. उसके द्वारा चढाई गई भेंट किसी भी देवी – देवता को स्वीकार नहीं होगी. इसलिए जब भी पूजा करने जाएँ तो पूर्ण श्रद्धा और विश्वास के साथ जाएँ. संतों और महात्माओं के द्वारा कही गई बात बिल्कुल सत्य हैं कि “यदि आप ईश्वर के समक्ष पूर्ण भक्ति भावना के साथ एक पुष्प लेकर भी जायेंगें तो आपको ईश्वर का आशीर्वाद जरूर प्राप्त होगा तथा आप पर हमेशा ईश्वर की कृपा बनी रहगी.” तो चलिए जानते हैं कि आप देवी देवताओं को प्रसन्न करने के लिए कौन से पुष्प उन्हें समर्पित कर सकते हैं.

देवी – देवताओं के प्रिय पुष्प (Godess And God’s Favorite Flower)
1.    श्री गणेश (Shree Ganesha) – श्री गणेश भगवान की पूजा करते समय कभी – भी तुलसी के पत्ते न चढाएं. इसके अलावा आप गणेश भगवान को कोई भी पुष्प अर्पित कर सकते हैं. इन्हें अन्य सभी पुष्प प्रिय हैं. लेकिन अगर आप गणेश जी की विशेष पूजा कर रहें हैं और उन्हें उनके प्रिय फूल चढाना चाहते हैं. तो आप गणेश भगवान के समक्ष दूर्वा (दूब, घास) चढ़ा सकते हैं. क्योंकि गणपति जी को दूर्वा अत्यधिक प्रिय हैं. CLICK HERE TO READ MORE ABOUT भगवान को फुल चढ़ाने के नियम ... 
पूजा के विशेष मन्त्र तथा देवी देवताओं के प्रिय पुष्प
पूजा के विशेष मन्त्र तथा देवी देवताओं के प्रिय पुष्प


2.    देवी (Godess)– आप किसी भी देवी की पूजा करते हुए लाल रंग के पुष्प का उपयोग उन्हें प्रसन्न करने के लिए कर सकते हैं. क्योंकि सभी देवियों को लाल रंग के फूल अधिक भाते हैं. इसके साथ ही देवियों की पूजा करते समय इस बात का विशेष ध्यान रखें कि इन्हें दूर्वा, मालती, तुलसी तथा भांगरे के पुष्प न चढ़ाएं. लेकिन यदि सम्भव हो तो ऊमामार्ग पुष्प देवी को जरूर चढाएं.

3.    शिवजी (Shivji) शिवजी और विष्णु जी को लगभग एक समान ही पुष्प ही अधिक प्रिय लगते हैं. इसलिए जो पुष्प आप विष्णु भगवान की पूजा में इस्तेमाल करते हैं. उनका प्रयोग आप शिवजी की पूजा में भी कर सकते हैं. इसके अलावा शिवजी को मौलसिरी के पुष्प अत्यधिक प्रिय लगते हैं. शिवजी को केतकी और केवड़े के पुष्प चढाना वर्जित माना जाता हैं. इसलिए इन पुष्पों का प्रयोग शिवजी की पूजा – अर्चना में बिल्कुल न करें.
 Ishvar ki Upasna ke liye Uttam Phool
 Ishvar ki Upasna ke liye Uttam Phool

4.    विष्णु (Vishnu) भगवान को तुलसी के पत्ते अधिक पत्ते लगते हैं. इसके अलावा यदि सम्भव हो तो कमल का पुष्प आप विष्णु भगवान की अराधना करते समय चढ़ा सकते हैं.


विष्णु पुराण के अनुसार यदि आप विष्णु भगवान को एक कमल का पुष्प चढ़ा दें तो आपके जीवन के सभी कष्ट समाप्त हो जायेंगें. विष्णु भगवान को आक – धतूरा, अपराजिता, भटकटैया, कचनार बरगद, गुलर, पाकर आदि बिल्कुल पसंद नहीं हैं. इसलिए इनकी पूजा में इन सभी का इस्तेमाल करना वर्जित हैं.

1.    इसके अलावा विष्णु पुराण में यह भी कहा गया हैं कि अगर आप 100 लाल रंग के कमल के पुष्प के स्थान पर एक सफेद कमल का पुष्प चढ़ा देंगें तो आपको 100 लाल कमल के फल के समान फल की प्राप्ति होगी.

2.    यदि आप लाखों की संख्या में सफ़ेद फूल की जगह पर नारायण के समक्ष एक नील कमल चढा दें तो आपको शुभ फल की प्राप्ति शीघ्र होती हैं.
Archna ke Mahatvpurn Mantra
Archna ke Mahatvpurn Mantra


5.    सूर्य देवता (Sury Devta) सूर्य देवता के सन्दर्भ में कहा जाता हैं कि यदि कोई उनके समक्ष एक आक का पुष्प चढ़ा दें तो उसे सोने के 10 सिक्कों को चढाने का पुण्य फल प्राप्त होता हैं तथा सूर्य देवता को केसर तथा लाल कनेर के पुष्प, बेलपत्र, तुलसी के पत्ते तथा कमल के फूल अधिक प्रिय हैं. इसलिए आप सूर्य देवता की कृपा पाने के लिए इनका प्रयोग कर सकते हैं.
सूर्य देवता को धतूरा, अपराजिता, भटकैया, लगट, आमडा अप्रिय हैं. इसलिए इनका प्रयोग सूर्य देवता को अर्घ्य देने के लिए या उनकी अर्चना करने के लिए न करें.

देवी देवताओं के प्रिय पुष्प तथा पूजा के अन्य महत्वपूर्ण मन्त्रों के बारे में अधिक जानने के लिए आप नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते हैं.
Vishnu Shivji Ganesh Or Sury Devta ki Aradhna ke liye Phul
Vishnu Shivji Ganesh Or Sury Devta ki Aradhna ke liye Phul   



Pooja ke Vishesh Mantra Or Devi Devataon ke Priya Pushp, पूजा के विशेष मन्त्र तथा देवी देवताओं के प्रिय पुष्प, Archna ke Mahatvpurn Mantra,  Ishvar ki Upasna ke liye Uttam Phool, Manas Pushp ki Katha, Vishnu Shivji Ganesh Or Sury Devta ki Aradhna ke liye Phul.



Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT