इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Shivling ke Vibhinn Prakar or Inki Pooja ka Mahtv | शिवलिंग के विभिन्न प्रकार और इनकी पूजा का महत्व

शिवलिंग के विभिन्न प्रकार (Different Types of Shiva)
·       गंधलिंग – शिवजी के अनेकों शिवलिंग में से एक शिवलिंग को गंधलिंग के नाम से जाना जाता हैं. गंधलिंग निर्माण दो भाग कस्तूरी से, चार भाग चन्दन तथा तीन भाग कुमकुम से किया जाता हैं.

·       मिश्री का शिवलिंग – शिव भगवान की उपसना करने के लिए एक शिवलिंग मिश्री का या चीनी का प्रयोग कर भी बनाया जाता हैं. इस शिवलिंग को बनाने के पीछे यह मान्यता हैं कि जो व्यक्ति चीनी के शिवलिंग का निर्माण कर उसकी अराधना करता हैं. उसे सभी प्रकार के रोगों से मुक्ति मिल जाती हैं तथा शिव भगवान उसके जीवन को सुखमय बना देते हैं. CLICK HERE TO READ MORE ABOUT सर्वव्यापी शिवजी की उपासना से लाभ ...
Shivling ke Vibhinn Prakar or Inki Pooja ka Mahtv
Shivling ke Vibhinn Prakar or Inki Pooja ka Mahtv

·       सोंढ, मिर्च पीपल के चुर्ण और नमक के शिवलिंग – इन तीनों चीजों का प्रयोग कर बनाया गया शिवलिंग बहुत ही लाभदायक होता हैं. सोंढ, मिर्च, पीपल का चुर्ण तथा नमक को मिलाकर बनाए गए शिवलिंग की पूजा करने से व्यक्ति को वशीकरण आदि समस्याओं से मुक्ति मिल जाती हैं तथा कुछ लोग इस शिवलिंग की पूजा जादू – टोने करने की शक्तियों को अर्जित करने के लिए भी करते हैं.

·       फूलों का शिवलिंग – शिवलिंग की रचना फूलों से भी की जाती हैं. माना जाता हैं कि यदि कोई व्यक्ति फूलों के द्वारा शिवलिंग बनाए और इस शिवलिंग की पूजा रोजाना करें तो उसे शीघ्र ही एक नए भवन की प्राप्ति होती हैं. CLICK HERE TO READ MORE ABOUT महाशिवरात्रि के दिन शिव पूजा ...
शिवलिंग के विभिन्न प्रकार और इनकी पूजा का महत्व
शिवलिंग के विभिन्न प्रकार और इनकी पूजा का महत्व


·       जौ, गेहूं तथा चावल का शिवलिंग – इस शिवलिंग का निर्माण इन तीनों चीजों को एक साथ तथा एक समान मात्रा में मिलाकर किया जाता हैं. इस शिवलिंग का निर्माण कर पूजा करने से मनुष्य के घर में सुख – समृद्धि के साधन बढ़ जाते हैं. यदि किसी व्यक्ति को संतान सुख प्राप्त न हो रहा हो. तो उसे इस शिवलिंग की पूजा करने से संतान की प्राप्ति हो जाती हैं तथा अगर कोई व्यक्ति भयंकर बीमारी से पीड़ित हैं तो उसे उस रोग से भी हमेशा – हमेशा के लिए मुक्ति मिल जाती हैं.

·       फल का शिवलिंग – किसी भी एक फल को शिवलिंग की भांति मंदिर में स्थापित कर उसकी पूजा – अर्चना की जा सकती हैं. फल की शिवलिंग के रूप में पूजा करने से मनुष्य की फल वाटिका में उत्तम फल उत्पन्न होते हैं.

·       यज्ञ की भस्म से बने शिवलिंग – यज्ञ सम्पूर्ण होने के बाद जो भस्म बच जाता हैं. कुछ लोग इस भस्म से भी शिवलिग का निर्माण करते हैं. इस शिवलिंग का निर्माण कर इसकी उपासना करने से मनुष्य को अभीष्ट सिद्धियाँ प्राप्त होती हैं.

·       बाँस के अंकुर से बना शिवलिंग – इस शिवलिंग को बनाने के लिए बाँस के अंकुर का प्रयोग किया जाता हैं. इस शिवलिंग के निर्माण के लिए बांस के अंकुर को शिवलिंग के आकार में काट लिया जाता हैं. उसके उपरांत इसकी पूजा मनुष्य अपने वंश को बढाने के लिए करते हैं. 
Shivling ki Pooja ke Fayde
Shivling ki Pooja ke Fayde


·       दही का शिवलिंग – दही का इस्तेमाल कर शिवलिंग बनाने के लिए दही को एक कपडे में बांध दिया जाता हैं और फिर उसे निचोड़ दिया जाता हैं. इसके बाद इस दही से शिवलिंग बनाया जाता हैं. दही से बने शिवलिंग की अराधना सभी प्रकार के सुख की प्राप्ति के लिए तथा धन की प्राप्ति के लिए की जाती हैं.

·       गुड़ से बने शिवलिंग – गुड़ से बने शिवलिंग की पूजा अधिकतर किसान अपने खेत में उगने वाली फसल के लिए करते हैं. इस शिवलिंग को निर्मित करने के लिए केवल गुड़ का इस्तेमाल नहीं किया जाता. बल्कि इसके साथ अनाज का भी प्रयोग किया जाता हैं. इसके लिए गुड़ को शिवलिंग का आकार दिया जाता हैं तथा उसके ऊपर से अनाज के दानों को चिपका दिया जाता हैं तथा उसके बाद इस शिवलिंग को पूजा जाता हैं.

·       आंवले से बने शिवलिंग – आंवले से बने शिवलिंग का निर्माण कर उसकी पूजा करने के पीछे यह मान्यता हैं कि इस शिवलिंग का अभिषेक करने वाले मनुष्य को मुक्ति की प्राप्ति होती हैं.

·       कपूर से बना शिवलिंग – कुछ स्थानों पर कपूर के द्वारा शिवलिंग भी बनाये जाते हैं. इन शिवलिंगों का निर्माण मनुष्य आध्यात्मिक उन्नति के लिए तथा मुक्ति प्राप्ति के लिए करते हैं.

·       दूर्वा का शिवलिंग – दूर्वा अर्थात दुब जिसे सामान्य भाषा में घास कहा जाता हैं. कुछ लोग दूर्वा को शिवलिंग के आकार में बांध कर इसकी पूजा करते हैं. ऐसा माना जाता हैं कि दूर्वा को गुंथकर शिवलिंग की अर्चना करने से जिस व्यक्ति की कुंडली में आकाल मृत्यु का योग होता हैं. उस योग से मनुष्य को मुक्ति मिल जाती हैं.

·       स्फटिक का शिवलिंग – स्फटिक से बने शिवलिंग की भी पूजा की जाती हैं. स्फटिक से बने शिवलिंग की पूजा मनुष्य अपनी सभी अभीष्ट कामनाओं की सिद्धि हेतु करता हैं.

·       मोती के शिवलिंग – मोतियों का प्रयोग कर जो शिवलिंग बनाया जाता हैं. यदि कोई महिला इस शिवलिंग की प्रतिदिन पूजा करें. तो उसका भाग्य बदल जाता हैं तथा वह सौभाग्यशाली बन जाती हैं.

·       स्वर्ण का शिवलिंग – सोने से बने शिवलिंग की पूजा व्यक्ति अपने घर की सुख - समृद्धि को बढाने के लिए करते हैं.

·       चाँदी का शिवलिंग – चाँदी की धातु से बने शिवलिंग की पूजा करने से मनुष्य को अपार धन की प्राप्ति होती हैं.
Apaar Dhan ki Prapti ke liye Karen Chandi ke Shivling ki Pooja
Apaar Dhan ki Prapti ke liye Karen Chandi ke Shivling ki Pooja

·       पीपल की लकड़ी से बना शिवलिंग – पीपल की लकड़ी से बन हुए शिवलिंग की पूजा जो व्यक्ति करता हैं. उसके जीवन से दरिद्रता (गरीबी) हमेशा – हमेशा के लिए दूर हो जाती हैं.

·       लहसुन से बने शिवलिंग – लहसुन से बने शिवलिंग की पूजा करने से व्यक्ति के जीवन के सभी शत्रु नष्ट हो जाते हैं. जिससे व्यक्ति को भविष्य में किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं होती.

शिवलिंग की पूजा अभिषेक तथा शिवलिंग के अन्य प्रकारों के बारे में अधिक जानने के लिए आप नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते हैं.   

Anek Trah ke Shivling ke Laabh
Anek Trah ke Shivling ke Laabh

Shivling ke Vibhinn Prakar or Inki Pooja ka Mahtv, शिवलिंग के विभिन्न प्रकार और इनकी पूजा का महत्वशिवलिंग, Shivling ki Pooja ke Fayde, Apaar Dhan ki Prapti ke liye Karen Chandi ke Shivling ki Pooja, Anek Trah ke Shivling ke Laabh, Shivling, Shivling ke Anek Roop.


Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT