इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Bacchon ko Bistar Gila Karne se Rokne ke Upchar | बच्चों को बिस्तर गिला करने से रोकने के उपचार | Stop Child Bed Wetting

बिस्तर में पेशाब करने की समस्या से निजात पायें ( Cure Child Bed Wetting Problem )
बच्चे नादान होते है इसलिए वे कहीं भी पेशाब कर देते है. ज्यादा छोटा बच्चा हो तो आपने देखा होगा कि वो उस व्यक्ति को गिला करने से भी नहीं शर्माता जिसने उसे उठा रखा है. किन्तु ये तो छोटे बच्चों की बात है लेकिन अगर आपका 4 वर्ष से अधिक उम्र का बच्चा ऐसी हरकत करता है और बिस्तर में ही शुशु कर देता है तो ये एक समस्या हो सकती है. जिसका आपको तुरंत इलाज कराना चाहियें.

ऐसे बच्चे को उसमे माता पिता कहीं बाहर ले जाने से भी हिचकते है और कभी कभी तो दांत भी देते है. इसका कारण शर्मिंदगी होता है. लेकिन इसमें बच्चे का भी क्या दोष वो ये सब जान बुझ कर तो नहीं करते. तो आज हम अपनी इस पोस्ट में बच्चों के बिस्तर को गिला करने के कारण और उसके कुछ घरेलू आयुर्वेदिक देशी उपचारों के बारे में बात करेंगे, जिन्हें आप बे झिझक अपना सकते हो. CLICK HERE TO KNOW बिस्तर का रंग लायेगा प्रेमियों को करीब ... 
Bacchon ko Bistar Gila Karne se Rokne ke Upchar
Bacchon ko Bistar Gila Karne se Rokne ke Upchar
सोते समय शुशु करने के कारण ( Causes of Child Bed Wetting ) :
-   पेट में कीड़े ( Stomach Worms )

-   स्नायु विकृति ( Muscle Strain )

-   पेशाब की नली में रोग ( Disease in Urine Tube )

-   ठन्डे पदार्थों का अधिक सेवन ( Consumption of Cold Products )

-   हार्मोन में गड़बड़ी ( Imbalance of Harmon )

-   ब्लैडर का कमजोर होना ( Weak Bladder )

-   डर / तनाव ( Fear or Tension )

-   नींद में भी शुशु करने के सपने देखना ( Dreams of Toilet )

-   अधिक पानी पीकर सोने के कारण ( Drinking of Water Before Going to Bed )

अपनाएँ ये आदतें ( Adapt These Habits ) :
§ बच्चे को सुलाने से पहले उन्हें शुशकार पेशाब करा दें.

§ सोने से पहले बच्चे को अधिक पानी ना पिलायें.

§ अगर आप रात को बीच में उठते हो तो बच्चे को भी धीरे से उठायें और उसे पेशाब करा दें.

§ बच्चे को सुलाने से लगभग 1 घंटा पहले खाना खिलाएं.

§ अगर बच्चा बिस्तर गिला कर देता है तो उसे डांटकर और अधिक ना डरायें.

§ जिस कमरे में आपका बच्चा सोता है आप उस कमरे में हल्की रोशनी वाला बल्ब जरुर जलायें. CLICK HERE TO KNOW वास्तुशास्त्र और शयनकक्ष ...
बच्चों को बिस्तर गिला करने से रोकने के उपचार
बच्चों को बिस्तर गिला करने से रोकने के उपचार
अपनायें ये घरेलू आयुर्वेदिक चिकित्सा ( Use These Home and Aayurvedic Remedies ) :
·     तिल के लडडू और दूध ( Til ke Laddoo and Milk ) : बच्चे की बिस्तर गिला करने की आदत को रोकने के लिए आप तिल व गुड के लड्डुओं को बना लें. इन लड्डुओं को रोजाना सुबह बच्चे को दूध के साथ दें. ध्यान रहें कि दूध में आप चीनी की जगह शहद मिलाएं और बच्चे को कहें कि वो लडडू को चबा चबा कर खाएं. 40 दिन तक आप इस उपाय को नियमित रूप से अपनाएँ, नतीजा आपके सामने होगा.

·     मुनक्का ( Raisins ) : आप 2 मुनक्का / सुखी किशमिश लें और उसके बीज को निकाल लें. अब आप इसमें 2 काली मिर्च डालकर पीस लें और रात को बाचे को सोने से पहले खिला दें. बच्चे को तुरंत आराम मिलेगा. 

·     अजवायन ( Parsley ) : अजवायन का आयुर्वेद में एक अहम स्थान है क्योकि ये हर घरेलू नुस्खे में इस्तेमाल की जा सकती है. बच्चे की बेड में पेशाब करने की आदत को छुडवाने के लिए आप अजवायन के 1 ग्राम चूर्ण को लें और उसे बच्चे को सोने से पहले नियमित रूप से दें. आप चाहे तो बच्चे को पानी और अजवायन का काढ़ा बनाकर भी पिला सकते हो. 
Stop Child Bed Wetting
Stop Child Bed Wetting
·     जायफल ( Nutmeg ) : 5 ग्राम की जायफल को पानी में घीस लें और 1 कप गुनगुने दूध में मिला लें. इस दूध को बच्चे को सुबह शाम रोजाना पिने के लिए दें. जल्द ही उसे इस रोग से आराम मिल जायेगा.

·     अखरोट और किशमिश ( Walnut and Raisins ) : अगर बच्चा रोजाना 2 अखरोट या फिर 20 किशमिश खाता है तो इससे भी बच्चा रात में बिस्तर गिला करना बंद कर देता है.

·     गुलर, अर्जुन और पीपल की छाल ( Sycamore, Arjun and Pipal ) : आप गुलर, अर्जुन और पीपल की 50 – 50 ग्राम छाल लें और उसमें इतनी ही मात्रा में सौंठ और राई मिला लें. इसके बाद आप इसमें 100 ग्राम काले तिल और मिला लें और उन्हें अच्छी तरह पीस लें. प्राप्त चूर्ण में आप 50 ग्राम शिलाजीत मिलाएं और इसकी गोलियाँ बना लें. इन गोलियों को आप बच्चे को दवाई के रूप में रोजाना खिलाएं. इससे ना सिर्फ बच्चे को बिस्तर में पेशाब करने की आदत से छुटकारा मिलता है बल्कि बच्चे का शरीर और दिमाग दोनों ही हष्ट पुष्ट और स्वस्थ हो जाते है.
बिस्तर में पेशाब करने की समस्या
बिस्तर में पेशाब करने की समस्या
·     जामुन की गुठलियाँ ( Kernels of Blackberry ) : आप जामुन की कुछ गुठलियों को छाया वाली जगह में सुखा लें, जब ये सुख जाएँ तो इन्हें पतला पीस लें और बच्चे को सुबह शाम इस चूर्ण की 2 ग्राम की मात्रा पानी के साथ खिलाएं. जल्द ही बच्चे को आराम मिलेगा.

·     छुआरा ( Chhohara ) : आप 250 ग्राम पानी को एक पतीले में गर्म करने के लिए रख दें और इसमें 1 छुआरा डाल दें. पानी के उबलने के बाद आप इसे ठंडा होने दें. फिर आप छुआरे को दूध के साथ बच्चे को दें. इससे भी बच्चे को आराम मिलता है.


बच्चे के बिस्तर गिला करने के अन्य कारण और इस रोग से मुक्ति के अन्य घरेलू आयुर्वेदिक देशी उपचारों के बारे में अधिक जानने के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते हो.
Agar Shishu Bed Par Peshaab Krata Hai to
Agar Shishu Bed Par Peshaab Krata Hai to
Bacchon ko Bistar Gila Karne se Rokne ke Upchar, बच्चों को बिस्तर गिला करने से रोकने के उपचार, Stop Child Bed Wetting, Agar Shishu Bed Par Peshaab Krata Hai to, Raat ko Bacche ka Bistar par Shushu Karna, Sote Samay Bacche ka Bisatar Par Toilet Karna Kaise Roken, Kyon Bistar Gila Karte Hai Bacche, Bed Wetting



YOU MAY ALSO LIKE  

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

1 comment:

ALL TIME HOT