इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

Amarbel mein Chhupe Anek Divya Gun | अमरबेल में छुपे अनेक दिव्य गुण | The Hidden Divine Qualities of Amarbel Dodder

अमरबेल और हर्बल नुस्खे ( Dodder and Its Herbal Uses Measures )
अमरबेल पीले रंग का एक ऐसा परजीवी पौधा है जो जिस पेड़ पर चढ़ता है उसी को सुखा देता है. क्योकि इसकी पत्तियों में पर्णहरिम की कमी होती है इसलिए ये पीले रंग का होता है. वनस्पति विज्ञान में इसे कस्कूटा रिफ्लेक्सा के नाम से जाना जाता है. मुख्य रूप से ये ग्रामों में दिखाई देता है किन्तु आप इसे किसी सड़क के किनारे, जंगलों और खेत खलिहानों में भी देख सकते है. इसमें सफ़ेद रंग के फुल गुच्छों में लगते है. अमरबेल में अनेक ऐसे दिव्य गुण होते है जो रोगों को दूर रखते है इसलिए आयुर्वेद भी इसे घरेलू उपचार के रूप में अपनाता है. आज हम आपको इसके कुछ ख़ास गुणों और रोगमुक्ति में इसके प्रयोग के बारे में बतायेंगे. CLICK HERE TO KNOW आयुर्वेद का अमृत गिलोय ... 
Amarbel mein Chhupe Anek Divya Gun
Amarbel mein Chhupe Anek Divya Gun
अमरबेल का रोगों में इस्तेमाल ( Use of Dodder in Diseases ) :
·     खाज खुजली ( Itching ) : खुजली त्वचा रोग का ही एक हिस्सा है जिससे त्वचा पर लाल निशान हो जाते है और असहनीय पीड़ा होती. इससे बचने के लिए आप अमरबेल को पानी के साथ पीसकर एक लेप बनायें और उसे खुजली वाले स्थान पर लगाएं.

·     अफारा ( Treat Chaotic ) : पेट में हवा बनने के कारण पेट फुल जाता है जिसे अफारा का नाम दिया गया है, ऐसी अवस्था में आप इसके बीजों को पानी में उबालें और एक गाढा काढा तैयार करें. इस काढ़े का सेवन करने से तुरंत आपको अफारे और पेट के दर्द में राहत मिलती है.

·     रक्तशुद्धि ( Purifies Blood ) : शरीर पर फोड़े फुंसी निकलना रक्त में खराबी की तरफ इशारा करता है, तो रक्त को शुद्ध करने के लिए आप इसकी ताज़ी फलियों को तुलसी के पत्तों के साथ चबा चबाकर चूसें. 1 सप्ताह ऐसा करने से रक्त साफ़ और शुद्ध हो जाता है, साथ ही वो पतला भी होता है जिससे हार्ट अटैक की समस्या भी दूर रहती है.

·     मूत्र विकार ( Urinal Problems ) : मूत्र विकार होने या मूत्राशय में किसी रोग के होने पर आप रोजाना दिन में 2 बार इसकी पत्तियों से बना रस पियें, ये मूत्राशय के सभी विकारों को दूर करता है. CLICK HERE TO KNOW केसर के घरेलू आयुर्वेदिक औषधीय उपयोग ... 
अमरबेल में छुपे अनेक दिव्य गुण
अमरबेल में छुपे अनेक दिव्य गुण
·     याददाश्त में वृद्धि ( Increase Memory Power ) : जीवन में बढती प्रतियोगिता और तनाव के कारण दिमाग पर निरंतर दबाव बना रहता है जिस कारण याददाश्त कम होने लगती है किन्तु अगर अमरबेल के फूलों का गुलकंद बनाकर रोजाना खाया जाएँ तो ये दिमाग को सशक्त बनाता है और याददाश्त को बढाने में भी मदद करता है.

·     सुजन कम करें ( Reduce Swelling ) : अगर शरीर के किसी हिस्से में सुजन आ गयी है तो आप पानी में अमरबेल को उबालें और उस पानी की किसी बोतल या किसी रबड़ की थाली में डालकर सुजन को सेंकें. जल्द ही सुजन कम होती है.

·     दांतों में चमक ( Shines Teeth ) : दांतों की चमक को बढाने के लिए आपको अमरबेल के पत्तों का रस इस्तेमाल करना है और उसमें सादा नमक मिलाकर उसे दांतों पर इस्तेमाल करना है.

·     चेहरे पर निखार ( Increase Facial Glow ) : वहीँ अमरबेल की टहनियों से निकले हुए दूध को चेहरे पर नियमित रूप से लगाने से चेहरे पर गजब का निखार और तेज आ जाता है.
The Hidden Divine Qualities of Amarbel Dodder
The Hidden Divine Qualities of Amarbel Dodder
·     घाव को भरे ( Fills Wounds ) : अमरबेल को सुखाकर उसका चूर्ण तैयार करें और उस चूर्ण में सौंठ का चूर्ण और थोडा सा देशी घी मिलाकर एक लेप तैयार करें. इस लेप को घाव पर लगाएं, ये उपाय पुराने से पुराने घाव को भी शीघ्र भर देता है.

एक अन्य उपाय के अनुसार आप अमरबेल के पुरे पौधे से काढा तैयार करें और उस काढ़े को घावों पर डालें, इस तरह ये काढा घाव को पकने नहीं देता और उसे तुरंत भरने में मदद करता है.

आप इसे एक एंटीसेप्टिक की तरह भी इस्तेमाल कर सकते है, उसके लिए आप इसे कुचलें और इसमें थोडा सा शहद और देशी घी मिलाकर लेप तैयार करें. इस लेप को घावों पर लगाएं, इसमें पाए जाने वाले एंटी बैक्टीरियल और एंटी ओक्सिडेंट तत्व घाव को जल्द भरने में मददगार सिद्ध होते है.
अमरबेल से जुड़े आदिवासी हर्बल नुस्खे
अमरबेल से जुड़े आदिवासी हर्बल नुस्खे
·     संक्रमण से बचाएं ( Protects from Infections ) : अक्सर सर्दियों या बरसात के मौसम में पैरों की उँगलियों के बीच संक्रमण हो जाता है, इस संक्रमण को खत्म करने के लिए आपको दिन मिएँ 5 से 6 बार अमरबेल के पौधे के रस को इसपर टपकाना है. कुछ ही दिनों में संक्रमण का नामो निशान भी नहीं बचता.

·     जोड़ों में दर्द ( Cures Joint Pain ) : जोड़ों में दर्द आज हर घर की समस्या है जिससे हर कोई निजात पाना चाहता है. आप इससे छुटकारा पाने के लिए अमरबेल का प्रयोग करें और इसके पुरे पौधे और बीजों को पीसकर एक लेप तैयार करें. उस लेप को आप जोड़ों पर लगाएं और ऊपर से गर्म पट्टी बाँध लें. ये जल्द ही दर्द को सोखकर आपको आराम दिलाता है.

·     गंजापन भगाए ( Remove Baldness ) : अगर गंजापन आपको परेशान कर रहा है तो आप उस अमरबेल को खोजें जो आम के पेड़ पर चढ़ी हुई हो. उस अमरबेल को आप घर लायें और पानी में उबालकर उस पानी से नहायें. 15 से 20 दिन इस प्रयोग को अपनाने से ही आपके बाल पुनः उगने लगते है और आपको गंजेपन से राहत मिलती है.

वहीँ कुछ आदिवासी जिलों का मानना है कि अमरबेल के पौधे को कूटकर उसमें तिल का तेल मिलाये और उसे 20 मिनट तक पानी में उबालने. प्राप्त तेल को रोजाना सिर पर लगाने से उड़े हुए बालों के स्थान पर नए बाल आने आरम्भ हो जाते है. ये बाल पहले से कहीं अधिक मजबूत और घने भी होते है.
Amarbel se Rogon ka Ilaaj
Amarbel se Rogon ka Ilaaj
·     बालों को लंबा करें ( Makes Hair Long and Strong ) : वहीँ बालों को लंबा और घना करने के लिए आपको सुबह के समय 3 लीटर पानी में 250 ग्राम अमरबेल को तब तक उबालना है जब तक की पानी आधा ना रह जाए. इसके बाद आप उसे ठंडा होने दें और फिर इस पानी से अपने बालों को धोएं. सप्ताह में 2 3 बार इस उपाय को अपनाएँ जल्द ही आप अपने बालों की लम्बाई में फर्क महसूस करने लगोगे.

अमरबेल के ऐसे ही छुपे हुए लाजवाब गुणों और अमरबेल के रोगों में अन्य इस्तेमाल के बारे में अधिक जानने के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते हो.  
Amar Bel Aushdhi Vanaspati
Amar Bel Aushdhi Vanaspati
Amarbel mein Chhupe Anek Divya Gun, अमरबेल में छुपे अनेक दिव्य गुण, The Hidden Divine Qualities of Amarbel Dodder, अमरबेल से जुड़े आदिवासी हर्बल नुस्खे, Amarbel se Rogon ka Ilaaj, Amarbel, अमरबेल, Amarbel ke Deshi Aayurvedic Upayog, Amar Bel Aushdhi Vanaspati, Lambe Ghane Kaale Baalon ke Liye Amarbel





YOU MAY ALSO LIKE
-  मनी प्लांट घर लता है मनी और प्यार

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

3 comments:

  1. teliya kand or kalihari ke paryogo per kripya post dale .. yh dono mere pass h

    ReplyDelete
  2. matlab kaise amar bel koot kar aur til ka tel milakar kaise ubalain please suggests me

    ReplyDelete
  3. अमर बेल हरी रंग कि भी होती है क्या ?

    ReplyDelete

ALL TIME HOT