इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Rogon ka Kaal Hai Udad ki Daal | रोगों का काल है उड़द की दाल | Shield for Diseases is Urad Pulse

दालों की महारानी उड़द ( Queen of All Pulses Udad )
उड़द को दालों की महारानी के रूप में जाना जाता है. उड़द एक दलहन फसल है और इसकी उपज अधिकतर साउथ एशिया में सबसे ज्यादा होती है. उड़द दाल सफेद और काली दोनों रंगों में होती है साथ ही ये सभी दलों से अधिक पौष्टिक भी मानी जाती है क्योकि ये बलवर्द्धक और शक्तिदायनी है. उड़द का प्रयोग तमाम व्यंजन बनाने के काम आता है जैसे, डोसा, पापड़, वड़ा, लड्डू, हलवा और दाल आदि. उड़द की दाल उन्हें खाने की हिदायत दी जाती है जिनकी पाचन शक्ति प्रबल होती है, तो जिनका पाचन तंत्र सशक्त नही होती उन्हें इसका उपयोग नहीं करना चाहिए. CLICK  HERE TO KNOW संतुष्टि दिलाने वाला उड़द दाल का लड्डू ... 
Rogon ka Kaal Hai Udad ki Daal
Rogon ka Kaal Hai Udad ki Daal
उड़द का उपयोग करने वालों के शरीर में रक्त, मांस की वृद्धि होती है. उड़द की दाल में प्रोटीन, विटामिन बी थायमीन, राइबोफ्लेविन, नियासिन, और स्टार्च पाया जाता है. उड़द मर्दाना ताकत और हृदय के लिए हितकारी भी होती है. क्योकि ये गर्म होती है इसलिए ये शारीरिक संबंधों को सुचारू बनाये रखने में भी लाभदायी होती है. इसके अलावा भी इसके अनेक लाभ है जिनके बारे में आज हम आपको बताएँगे.

  • ह्रदय स्वास्थ्य ( Keeps Heart Healthy ) - उड़द कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मददगार सिद्ध होती है, साथ ही ये हृदय की धमनियों को ब्लॉक होने बचाती है क्योंकि शरीर में उड़द मैगनीज और फौलेट की संख्या को बढाती है. इससे शरीर का रक्त संचार सुचारू रहता है और रक्त संचार व हृदय की धमनियों के सुचारू रूप से काम करने का अर्थ है कि हृदय स्वस्थ रहता है.

  • सुंदरता निखारे ( Makes You Look Good ) - जिन महिलाओं के चेहरे पर झाइयां और मुहांसे ज्यादा है तो इस दाल को पीस कर उसमें थोड़ा पानी और गुलाबजल मिला लें, ऐसा करने से एक फेस पैक तैयार हो जायेगा. इस फेस पैक को इस्तेमाल करने से पहले ठन्डे पानी से पहले मुह धो लें फिर इसे त्वचा पर लगायें. 10 से 15 मिनट बाद जब ये सुख जाये तब इसे ठन्डे पानी से धो लें. सप्ताह में इसे 2 से 3 बार इसका प्रयोग करें. इससे चेहरे में निखार आता है और चेहरा चमकदार व आकर्षक बन जाता है. CLICK HERE TO KNOW स्वस्थ शरीर पाने के लिए ध्यान दें ... 
रोगों का काल है उड़द की दाल
रोगों का काल है उड़द की दाल
  • ऊर्जा ( Gives Energy ) - उड़द में बहुत सारा आयरन होता है, जिसे खाने से शरीर को बल मिलता है. पहलवान प्राचीन काल से ही उड़द को शारीरिक शक्ति बढ़ाने की लिए उपयोग में लाते रहें हैं. आयरन की कमी यदि महिलाओं को हो जाये तो उन्हें माहवारी के दिनों में बहुत मुश्किल का सामना करना पड़ता है. इस कमी को पूरा करने के लिए उड़द का इस्तेमाल करना चाहिए, साथ ही इसमें कैलोरी और फट दोनों ही बहुत कम होते है जोकि इसे महिलाओं के लिए और भी अधिक लाभदायी बनाता है.

  • पौरुष शक्ति बढाए ( Increases Mainly Power ) - पौरुष शक्ति को बढ़ने के लिए छिलके वाली उड़द को पानी में 6 से 7 घंटे तक भिगो कर रखें. इसके बाद इसे सुखा लें और देशी घी में तल लें. अब रोजाना शहद के साथ इसका सेवन किया जाये तो पुरुष की पौरुष शक्ति बढती है तथा सभी विकार दूर होते हैं.

  • जोड़ों के दर्द में आराम ( Cures Joint Pain ) - उम्र बढ़ने के साथ साथ बुज़ुर्गों के जोड़ो में दर्द होने लगता है, इसके लिए छिलकों वाली उडद की दाल को तवे पर गर्म कर लें, उसके बाद इसे एक सूती कपडे में लपेट लें और जोड़ों के दर्द से परेशान व्यक्ति के दर्द वाले हिस्सों पर सिकाई करें, इससे दर्द में तेजी से आराम मिलता है.

  • वजन बढ़ाने के लिए ( Increases Weight ) वजन कम होना बड़े ही दुःख की बात है क्योकि ऐसे में सभी आपको हीन दृष्टि से देखते है. अगर आप अपना वजन बढ़ाना चाहते है तो उड़द की छिलके वाली दाल का सुबह और रात के भोजन में सेवन करें तो यह वजन बढाने में तेजी से मदद करती है.
Shield for Diseases is Urad Pulse
Shield for Diseases is Urad Pulse
  • बालों के लिए ( Good for Hairs ) - जिनके बाल लगातार गिर रहे हैं और गंजेपन की नौबत तक आ गयी है तो इस समस्या को दूर करने के लिए उड़द की दाल को उबालकर पीस लें और लेप तैयार करें. इस लेप को रात के समय सिर की त्वचा पर लगा लें तो नए बाल आने की शुरुआत हो जाती है और गंजापन धीरे - धीरे दूर होने लगता है.

  • नपुंसकता ( Makes You Man ) - नपुंसकता के शिकार व्यक्तियों के लिए उड़द की दाल 40 ग्राम पीसकर शहद और घी के साथ खानी चाहिए. इससे पुरुष कुछ ही दिनों में रति क्रिया करने के लायक बन जाता है.

  • स्तनों में दूध की वृद्धि ( Increase Milk in Breast ) - जो स्त्रियां स्तनपान कराती हैं उनके लिए भी उड़द की दाल वरदान स्वरूप है. अगर उनके स्तनों में दूध की कमी है तो उन्हें उड़द की दाल में घी मिलाकर खाना चाहिए. इससे धीरे धीरे स्तनों में दूध की वृद्धि होने लगती है.

  • नकसीर ( Cures Hemorrhage ) - जिनके नाक से समय समय पर खून बहता है उन्हें उड़द की दाल को भिगोकर पीस लेना चाहिए. इस पिसी हुई दाल को माथे पर लगाने से नकसीर (नाक से खून बहना) बन्द हो जाती है. नकसीर ज्यादातर गर्मी के मौसम में होती है इसलिए इसका उपयोग गर्मी के दिनों में हफ्ते में तीन चार बार अवश्य करें.
दालों की महारानी उड़द
दालों की महारानी उड़द
  • सिर का दर्द ( Good for Headache ) - सिर दर्द की समस्या में उड़द की दाल को पानी में भीगा दें, जब ये फुल जाए तब इसे पीसकर लेप बना लें. इस लेप को रात को सोने से पहले सिर में लगाकर सो जाए. अगले दिन सुबह उठकर लेप को ठन्डे पानी से धो लें. इस तरह दाल का उपायोग करने से जल्द ही सिर दर्द में राहत मिलती है. 

  • याददाश्त कमजोर होना ( Increases Memory Power ) - याददाश्त बढ़ाने के लिए रात को 60 ग्राम उड़द की दाल को पानी में भिगोकर रख दें. सुबह जब ये दाल फुल जाए तो इसे छान लें और पीस लें. अब इसमें दूध और मिश्री मिलाकर पियें. ऐसा हर हफ्ते दो तीन बार करें, याददाश्त मजबूत होती है और दिमाग की कमजोरी खत्म हो जाती है.

दालों की महारानी उड़द के ऐसे ही अन्य स्वास्थ्यवर्धक लाभों के बारे में अधिक जानने के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते हो
Paushtikta se Bharpur Udad ki Daal
Paushtikta se Bharpur Udad ki Daal

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT