इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

Vinash ke Darvaje Kholta Hai Heera | विनाश के दरवाजे खोलता है हीरा | Diamond Opens the Doors of Destruction

हीरा ( Diamond )
हीरा, ये नाम सुनते ही लोगों की आँखे चमक जाती है और मन में पैसे की एक बड़ी संख्या दौड़ने लगती है, साथ ही व्यक्ति सोचने लगता है कि आखिर असली हीरा दिखाता कैसा है और उसमें से कितनी चमक आती है. जब सिर्फ हीरे के नाम से व्यक्ति इतनी सारी कल्पना करने लगता है तो सोचें कि जब किसी साधारण व्यक्ति को हीरा देखने को मिले तो उसकी प्रसन्नता का क्या ठिकाना होगा. दरअसल उसका आकर्षण ही है जो हमे अपनी तरफ खींचता है. CLICK HERE TO KNOW लाशों को बदलें डायमंड में ... 
Vinash ke Darvaje Kholta Hai Heera
Vinash ke Darvaje Kholta Hai Heera
स्त्रियाँ तो इसकी दीवानी है और इसी से आज की औरतों का स्टेटस भी पता चलता है इसीलिए उनके सभी गहनों में हीरा जरुर देखने को मिलता है. किन्तु हीरा किस गुणवत्ता का है ये उसकी किरणों की रश्मियाँ ही तय करती है और वो ही हीरे को प्रभावशाली भी बनाती है.

ज्योतिष शास्त्र में हीरा ( Diamond in Astrology ) :
ज्योतिशास्त्र में हीरे जैसे मूल्यवान रत्न की अनेकों विशेषताओं को बताया गया है. साथ ही बताया गया है कि इसमें 2 तरह की उर्जायें काम करती है पहली पॉजिटिव अर्थात सकारात्मक और दूसरी नेगेटिव अर्थात नकारात्मक. जितनी तीव्र गति से इसकी सकारात्मक ऊर्जा कार्य करती है और अपना असर छोडती है उससे कहीं अधिक तीव्र गति से इसकी नकारात्मक उर्जा अपना प्रभाव दिखाती है. इसीलिए ध्यान रखें कि गलती से भी इसे सिर्फ आभूषण समझ कर धारण ना करें. वे स्त्रियाँ जो पुत्र प्राप्ति के सपने देखती है उन्हें तो सपने भी हीरे को धारण करने का विचार नहीं करना चाहियें. CLICK HERE TO KNOW ये सपने देखोंगे तो हो जाओगे मालामाल ...
विनाश के दरवाजे खोलता है हीरा
विनाश के दरवाजे खोलता है हीरा
हीरे की ऊर्जा किरणों का प्रभाव ( Effect of Rays of Diamond ) :
अक्सर माना जाता है कि जब रत्न शरीर से स्पर्श करता हो तभी वो अपना असर दिखाता है किन्तु हीरे के साथ ऐसा कुछ नहीं है इससे जो ऊर्जा निकलती है वो शरीर पर रिफ्लेकसन की मदद से आसानी से पहुँच जाती है. इस तरह हीरे को शरीर पर स्पर्श करने की कोई जरूरत नहीं है वो ऊपर से भी अपना काम कर सकता है. 

एक अन्य बात ये भी ध्यान रखें कि हीरे को अधिक ना तराशें क्योकि ये उसके प्रभाव को कम करता है, ज्योतिष शास्त्र भी यही मानता है कि जितना कम तराशा हुआ हीरा होता है उतना ही अधिक उसका प्रभाव होता है और ऐसे ही हीरे रत्न बनाने के लिए उपयुक्त भी माने जाते है.

कितने कैरेट का हीरा ज्योतिष शास्त्र में इस्तेमाल होता है ( Which Rate of Diamond Carat is Used in Astrology ) :
ज्योतिष शास्त्र में अधिकतर 1 या फिर 2 कैरेट के हीरे का ही इस्तेमाल अधिक होता है. इसलिए अगर किसी व्यक्ति ने 1 कैरेट से कम का हीरा धारण किया तो समझ जाएँ कि वो उसके लिए बिलकुल व्यर्थ ही है. तो ध्यान रहें कि बिना हीरे के वजन किये किसी भी हीरे का चुनाव ना करें. अधिक प्रभाव के लिए कम तराशा हुआ हीरा पहने और कम प्रभाव के लिए अधिक तराशा हुआ.
Diamond Opens the Doors of Destruction
Diamond Opens the Doors of Destruction
कैसे है हीरा विनाशकारी ( How Diamond is Destructive ) :
वैसे हमारा आज का विषय हीरे के विनाशकारी प्रभावों के बारे में था तो अब आपको बतायेंगे कि हीरा किस तरह विनाश के दरवाजे खोलता है.

हीरे के बारे में कुछ बाते जान लें कि इसका प्रतिनिधित्व ग्रह शुक्र है और ये शुक्र हमे वाहन का सुख, स्त्री का सुख, धन ऐश्वर्य का सुख, राज सुख और इन्द्रियों का सुख प्रदान करता है. इस तरह देखा जाए तो ये हमे सभी तरह के संसार के भौतिक सुख देने में सक्षम है. इसीलिए आपने देखा होगा कि जिसकी कुंडली में शुक्र मजबूत होता है वो सारा जीवन राजा की तरह रहता है. किन्तु अगर शुक्र नाराज हो गया है नकारात्मक हो गया तो ये अभी हालात उल्टे पड़ जाते है अर्थात उसे अपने पुरे जीवन में सिर्फ कष्ट ही कष्ट मिलेंगे.

अब ध्यान देने वाली बात यहाँ आती है कि हीरा पहनने से तो शुक्र की शक्ति बढती है तो इस तरह कुंडली में शुक्र के सकारात्मक होने पर तो सब कुछ ठीक होता रहेगा किन्तु जैसे ही शुक्र नाराज हुआ और उस वक़्त आपने हीरा धारण किया तो समझ जाएँ कि आपके कष्ट बढ़ते जायेंगे क्योकि हीरा तो अपना काम करेगा ही वो तो शुक्र को शक्तिशाली बनाता रहेगा और शुक्र अपनी सारी शक्ति का प्रयोग आपका विनाश करने में लगा देगा. इस स्थिति में आप उसे संभाल तक भी पायेंगे.

कैसे बचें इस विनाश से ( How to Protect us from This Destruction ) :
शुक्र मुख्यतः छठे, आठवे और बाहरवें भाव में ही नाराज होता है तो जब शुक्र इन ग्रहों में हो तो हीरा धारण न करें. इसके अलावा जब शुक्र सप्तमेश, अष्टमेश और द्वितीयेश में होता है तो वो बुद्धि पर प्रभाव डालता है. अर्थात आपको इन स्थितियों का भी ध्यान रखना होगा अन्यथा हीरा आपको मुर्ख बनाकर आपकी बुद्धि भ्रष्ट भी कर सकता है. ऐसे में जातक गलत संगत और शौक पल लेता है और खुद का जीवन नष्ट कर लेता है.

हीरे के जीवन पर सकारात्मक और नकारात्मक प्रभावों के बारे में अधिक जानने के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते हो. 
हीरे को सिर्फ आभूषण न समझें
हीरे को सिर्फ आभूषण न समझें

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

1 comment:

  1. Mujhe khan she nikla hua hira me bare adhik janna he, who dikhta kaisa he,kya use aag me jalane she WO rakh ho jata he,mujhe ye Sab janna he.

    ReplyDelete

ALL TIME HOT