इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

वर्ल्ड के 7 महापाप कौन से है | 7 Deadly Sins of The World

7 महापाप ( 7 Deadly Sins )
दोस्तों, अक्सर हम सभी दुनिया के 7 अजूबों, 10 सबसे बड़ी इमारतें या रहस्यमयी स्थानों के बारे में पढ़ते है, लेकिन आज हम बात करेंगे दुनिया के 7 महापापों यानी 7 Deadly Sins की. ये पाप ही हमे आगे बढ़ने से रोकते है और हमारी असफलता का कारण भी बनते है. इन्हें कार्डिनल सिंस और कैपिटल वाइसेस के नाम से भी जाना जाता है. CLICK HERE TO KNOW मृत्यु के अनसुने राज ...
7 Deadly Sins of The World
7 Deadly Sins of The World
दरअसल जब से इंसान अस्तित्व में आया है लगभग तभी से पाप पुण्य, न्याय अन्याय, अच्छाई बुराई और नैतिकता और अनैतिकता जैसे विचार भी अस्तित्व में है. चाहे फिर कोई भी धर्म, समुदाय या क्षेत्र ही क्यों ना हो ये आपको वहाँ किसी ना किसी रूप में मिल ही जायेंगे. अब हम अपने द्वारा किये गये पुण्यों को तो याद रखते है लेकिन पापों को भूल जाते है. असल में हमे पता ही नही होता कि हमने क्या पाप किया. अब सवाल आता है कि पापों को कैसे पहचानें?

आपको बता दें कि वैसे तो पापों की कोई गिनती नहीं है लेकिन साहित्यकारों के अनुसार 7 ऐसे महापाप है जिनसे हमे दूर ही रहना चाहियें और बाकी सभी पाप भी किसी ना किसी रूप में इन्ही का हिस्सा होते है और अगर आप ध्यान से देखोगे तो आप पाओगे कि हम सभी इन पापों से ग्रसित है. इनमे सबसे पहला पाप है
वर्ल्ड के 7 महापाप कौन से है
वर्ल्ड के 7 महापाप कौन से है
1.       कामवासना ( Lust ) : 7 महापापों में सबसे पहला और सबसे बड़ा पाप है अत्याधिक कामवासना, इसे दंडनीय अपराध भी माना जाता है. हालाँकि सबसे लस्ट का होना जरूरी है लेकिन एक लिमिट में, परस्त्री या परपुरुष के साथ कामवासना महापाप है इसलिए ऐसा करने से बचना चाहियें. 
Ye 7 Gunaah Le Jate Hai Nark
Ye 7 Gunaah Le Jate Hai Nark
2.       पेटूपन ( Gluttony ) : दुसरा महापाप है पेटूपन यानी के भर भर के खाना, इसे भी महापापों की लिस्ट में रखा गया है. अब आप फिर से कहोगे कि खाना कैसे गलत हो सकता है? तो आपको बता दें कि बेवक़्त कुछ भी खा लेना, दूसरों के खाने पर नजर रखना और भूख ना होने पर भी खाते रहना गलत है. इससे मोटापा भी बढ़ता है जोकि आपके स्वास्थ्य के लिए भी गलत है.
Duniya ke 7 Bure Karm
Duniya ke 7 Bure Karm
3.       लालच ( Greed ) : अब नंबर आता है लालच यानी लोभ का. कहते है कि हम खाली हाथ आये थे और हमे खाली हाथ ही जाना है लेकिन फिर भी हम पूरा जीवन पैसे के पीछे भागते रहते है, वो इसलिए क्योकि पैसा हमारी बहुत सारी जरूरतों को पूरा करता है और जीवनयापन में हेल्प करता है. लेकिन यहाँ भी वही बात आती है कि पैसों का ज्यादा लालच. पैसों के लिये बेईमानी या फिर चोरी करना महापाप है.
7 Paap Jo Hai Mrityu ka Karan
7 Paap Jo Hai Mrityu ka Karan
4.       सुस्ती ( Sloth ) : सुस्ती यानी आलस, अगर ध्यान से देखा जाए तो आलस का असल मतलब है अपनी योग्यताओं और क्षमताओं को यूज ना करना, उन्हें अपने आराम के लिए व्यर्थ कर देना. क्योकि भगवान ने हम सभी को अलग बनाया और हम सभी को कुछ योग्यताएं दी है तो हमे उनका यूज कर समाज में भागीदार बनना चाहियें लेकिन अपने आलस के चक्कर में हम भगवान द्वारा दी गयी अनुपम भेंट को व्यर्थ कर देते है जोकि किसी महापाप से कम नहीं.
In Dushkarmo ki Maafi Nahi Milti
In Dushkarmo ki Maafi Nahi Milti
5.       गुस्सा ( Wrath ) : गुस्सा मतलब लड़ाई की जड़, ये ना सिर्फ रिश्तों को तोड़ता है बल्कि आपके अंदर की अच्छाई को भी बुराई में बदल देता है. इसीलिए हर कोई सलाह देता है कि गुस्सा नहीं करना चाहियें. दरअसल गुस्से में हम खुद पर से कण्ट्रोल को खो देते है और फोर्सफुल कुछ भी बोल या कर देते है, लेकिन सातों महापापों में से गुस्सा ही एकलौता ऐसा पाप है जिसमें हो सकता है कि आपका स्वार्थ ना छिपा हो.
7 Deadly Sins List
7 Deadly Sins List
6.       इर्ष्या ( Envy ) : इसे हम जलन भी बुला सकता है, जैसेकि किसी की कामयाबी से जलन, किसी के पैसे से जलन, किसी की खूबसूरती से जलन, तो किसी की गर्लफ्रेंड से जलन. आप भी इस बात को जरुर एक्सेप्ट करोगे कि आप भी किसी ना किसी से जरुर जलते है. लेकिन आपको बता दें कि किसी के गुण को देखकर उसे अपनाना बनाने की चाह रखने से अच्छा है कि आप अपने गुण को इतना चमकाओ की उसकी चमक के सामने बाकी सभी कुछ छिप जाए. इसीलिए अपने गुण को ना पहचानकर किसी और के गुण की चाह रखना भी महापाप मना गया है.

7.       घमंड ( Pride ) : घमंड यानी अभिमान शब्द ही दर्शा रहा है कि ये कितना बड़ा पाप है. जिस तरह आत्मविश्वास और अति आत्मविश्वास में फर्क होता है ठीक उसी तरह गर्व और घमंड में भी बहुत फर्क होता है. घमंड में मै आ जाता है जिसकी वजह से हम बाकी सभी को तुच्छ और छोटा समझने लगते है और इसीलिए इसकी इतनी निंदा भी की जाती है. अगर ये कहा जाए कि घमंड ही सभी पापों को जन्म देता है तो ये गलत नहीं होता. खुद पर गर्व करना, खुद पर विश्वास का होना सही है पर खुद को सबसे बड़ा समझना गलत है या यूँ कहें कि घमंड है.

दोस्तों अब आप खुद को और अपनी आदतों को एनालाइज करें और देखें कि आपमें इनमे से कौन कौन से महापाप है और अगर आपको कुछ मिले तो उन्हें जल्द से जल्द चेंज करें. ध्यान रहे इन सबका हममे होना भी आवश्यक है लेकिन लिमिट में और इसीलिए कहा जाता है कि कोई भी चीज लिमिट में ही अच्छी लगती है. अगर आप इन 7 महापापों के बारे में और अच्छे से समझना और जानना चाहते है तो आपको Christopher Marlowe के Dr. Faustus नावेल को जरुर पढ़ना चाहियें और अगर आप नावेल नहीं पढ़ते तो आप इसी नाम से बनी मूवी को भी देख सकते है. इस मूवी में इन 7 Deadly Sins को बहुत अच्छे से समझाया और दिखाया गया है.
Sansar Ke Sabse Bade Mahapaap
Sansar Ke Sabse Bade Mahapaap


Capital Vices, Cardinal Sins, Ye 7 Gunaah Le Jate Hai Nark, Duniya ke 7 Bure Karm, 7 Paap Jo Hai Mrityu ka Karan, In Dushkarmo ki Maafi Nahi Milti, 7 Deadly Sins List, Sansar Ke Sabse Bade Mahapaap

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT