इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Depression ko Kaise Door Karen | डिप्रेशन को कैसे दूर करें | How to Avoid Depression

डिप्रेशन से मुक्ति ( Avoid Depression ) :
जब व्यक्ति अपने जीवन में किसी न किसी प्रकार के तनाव या दबाव से गुजरता है. किन्तु उसकी अति उसके मानसिक संतुलन को हिला सकती है और वे मानसिक रोगी या डिप्रेशन का शिकार हो जाते है. डिप्रेशन एक ऐसी स्थिति है जो शुरु तो मानसिक रूप से होती है किन्तु धीरे धीरे व्यक्ति को शारीरिक रूप से भी प्रभावित करना शुरु कर देती है जिसके कारण उन्हें अनेक तरह के रोग हो जाते है. ऐसे लोग जीने की चाह को खो देते है और खुद को प्रथक समझकर अपनी आत्मा पर बोझ डाल लेते है. किन्तु कुछ उपाय है जिनको अपनाकर ये इस भयंकर स्थिति से बाहर आ सकते है. ये उपाय निम्नलिखित है. CLICK HERE TO KNOW THE SYMPTOMS AND TYPES OF DEPRESSION ...
Depression ko Kaise Door Karen
Depression ko Kaise Door Karen 
·         अवसाद को पहचाने ( Know the Depression ) : डिप्रेशन को दूर करने से पहले उसे पहचानना जरूरी है कि आपको किस बात की चिंता है या आप किस वजह से तनावग्रस्त हो. कारण का पता लगने पर हे उपचार करना आसान हो जाता है तो सर्वप्रथम आप कारण को खोजें और अवसाद को पहचाने. इसके लिए आप कुछ देर शांति में अकेले बैठ जायें और चिंतन करने कि कब से आप इस अवस्था में हो और उस वक़्त आपके साथ क्या क्या घटित हुआ था. अपने मन से हर तरह के बोझ को उतार दें तभी आप अच्छी तरह कारण तक पहुँच पाते हो. 

·         साथ खोजें ( Take Help ) : क्योकि डिप्रेशन में व्यक्ति खुद को अकेला और असहाय समझने लगता है तो इसके लिए उसे किसी व्यक्ति, प्रियजन या परिवार के व्यक्ति की मदद मांगनी चाहियें और उनके साथ रहना चाहियें. इनके साथ रहने से आप दोबारा से अपने जीवन को जीने के बारे में विचार कर सकते हो और डिप्रेशन की स्थिति से बाहर आ सकते हो. CLICK HERE TO KNOW HOW TO OVERCOME  TENSION STRESS ...
डिप्रेशन को कैसे दूर करें
डिप्रेशन को कैसे दूर करें
·         अनावश्यक संकल्पों को त्याग दें ( Leave Extra and Unwanted Works ) : कुछ लोग ऐसे भी होते है जो अनावश्यक बातों या संकल्पों के चलते अपने दिमाग को परेशान रखते है. ऐसे संकल्पों को जितना जल्दी हो सके छोड़ दें या पूरा कर लें. इस बात की चिंता छोड़ दें कि आपको क्या करना चाहियें और क्या नही बल्कि अपने जीवन को जीना शुरू करें. देखना जल्द ही आपकी सारी परेशानी दूर हो जायेंगी और आप डिप्रेशन के काले सायें से बाहर आ जाओगे.

·         व्यायाम करें ( Do Exercise Daily ) : व्यायाम आपको सभी परेशानियों से लड़ने के लिए मानसिक और शारीरिक शक्ति देता है साथ ही ये आपमें सकारात्मक भाव को उत्पन्न करता है. इसलिए आप प्रतिदिन थोड़ी सैर करें और थोडा व्यायाम करें. जल्द ही आपको समझ आ जाएगा कि आपकी चिंता व्यर्थ है.

·         एक से अधिक कार्य करने से बचें ( Avoid Multitasking ) : एक समय पर एक से अधिक कार्य करें वाले व्यक्ति बेवजह में अपने मस्तिष्क पर तनाव को डालते है. इसलिए आप उतना ही कार्य करने जितना की सही और संभव हो. अगर आप एक समय पर अनेक कम पर ध्यान लगते है तो आपके दिमाग को अधिक कार्य करना पड़ता है जिसकी वजह से ये थक जाता है और आप किसी भी कार्य पर अच्छी तरह से एकाग्र नही हो पाते हो. CLICK HERE TO KNOW HOW TO BE HAPPY ...
How to Avoid Depression
How to Avoid Depression
·         संपूर्ण आहार लें ( Have Good Food ) : आहार व्यक्ति की सबसे पहली जरूरतों में से एक है. डिप्रेशन से ग्रस्त व्यक्ति को भूख नही लगती तो आप अपने साथ ऐसा ना होने दें बल्कि ऐसी स्थिति में जितना अधिक हो सके उतना भोजन खायें ताकि आपके शरीर में उर्जा बनी रहे और उसको आप अपने कार्यों में लगाकर खुद को व्यस्त रखें. इससे ना तो आपका आपकी चिंता पर ध्यान जाएगा, साथ ही आपके शरीर को पौष्टिक तत्व भी प्राप्त हो जायेंगे.

·         खुद को समय दें ( Give Yourself Some Time ) : चाहे आप किसी बीमारी से ग्रस्त हो या ना हो, आपको दिन में कुछ समय खुद के लिए जरुर निकलना चाहियें. उस समय में आप ये सोचें कि आज आपने क्या किया और आगे आपको क्या करना है. इसके अलावा आप कुछ देर के लिए शांत बिना कुछ सोचे बैठे रहें. इससे आपकी एकाग्रता फिर से बनती है.
अवसाद की पहचान और उसका इलाज
अवसाद की पहचान और उसका इलाज
·         नकारात्मकता से दूर रहें ( Be Positive ) : नकारात्मक भाव आपको खुद को घृणा करना सीखता है, साथ ही आप हर कार्य को उसकी पूर्णता नही बल्कि अपूर्णता के रूप में देखने लगते हो. इसलिए ऐसे मित्र बनाएं जो आपका साथ दें और आपको अवसाद से मुक्त होने में मदद करें. इससे आपका विवेक भी बढेगा और आप शांत मन से विचार कर पाओगे.

·         काम को संतुलित करें ( Balance Your Work ) : कुछ लोग अपने काम, नौकरी या जॉब में दिए गये लक्ष्यों को पूरा न करने के डर से चिंतित रहते है. ऐसे लोग ना दिन में आराम करते है और ना ही रात को चैन से सो पाते है. ऐसे लोगो के लिए सही प्लान और संतुलन आवश्यक है. इन्हें लक्ष्यों की प्रतिदिन की एक तालिका बना लेनी चाहिए और उसका अनुसरण करना चाहियें. अगर आपके अथक प्रयतन के बाद भी आपका कार्य नही बन पा रहा है तो आप ऐसी नौकरी को छोड़ दें और दूसरी नौकरी खोजें.
Depression se Mukti
Depression se Mukti
·         दूसरों को दोष न दें ( Don’t Blame Others ) : दूसरों को दोष देने से सच्चाई बदलती तो है नही बल्कि इससे मन में खुद के लिए ही हीन भावना उत्पन्न हो जाती है, साथ ही जिसके ऊपर आपने दोष लगाया है वो भी आपका दुश्मन बन जाता है तो इससे किसी का कोई लाभ नही होता. इसलिए अगर आपसे कोई गलती हो जाती है तो आप उसे स्वीकार करें और सभी के साथ मैत्री भाव से और मिलजुल कर रहें. सभी के साथ मिलकर रहने से आपको अकेलेपन का आभास नही होगा और आप अपने जीवन को अधिक रंगीनी और ख़ुशी से व्यतीत कर पाओगे.

·         आशावादी रहें ( Be Optimistic ) : ये आपके इलाज के लिए सबसे जरूरी चीज है क्योकि जब व्यक्ति आशा करना ही छोड़ देता है तो उसके लिए सब कुछ ना कर बराबर हो जाता है. किन्तु आशा उसे ना में से भी हाँ को खोजना सीखती है. इसलिए आप अपने जीवन में कभी निराश न हो और अगर कुछ गलत हो भी जाता है तो आशा रखें और उसे सुधारने की कोशिश करें. इससे आपके मन को संतुष्टि मिलेगी और आप अवसाद जैसी समस्या से कोशो दूर रहोगे.
Depression ki Pahchan or Ilaj
Depression ki Pahchan or Ilaj
·         आराम और अच्छी नींद लें ( Take Rest and Good Sleep ) : अवसाद में व्यक्ति का शरीर और दिमाग आलसी हो जाता है किन्तु अगर आप अच्छी नींद और आराम लेते हो तो आपके दिमाग के साथ ऐसा कुछ नही हो पाता बल्कि आप पुर्णतः चुस्त और ताजा महसूस करते हो और खुद को हर काम के लिए तैयार पाते हो. साथ ही इससे आपके अंदर एक नयी उर्जा का संचार होता है और आपके मस्तिष्क और आपकी सोच को एक सकारात्मक भाव मिलता है इसलिए आप दिन में कम से कम 7 से 8 घंटे की नींद जरुर लें.  

·         आज में जियें ( Live Your Life Today ) : डिप्रेशन में आकर अपने जीवन को जीना ना छोड़ दें बल्कि जितना हो सके मौज मस्ती करें. गड़े मुर्दे उखाड़ने से या आगे के बारे में अधिक सोचकर अपने आज को बर्बाद ना करें. इसलिए आप प्रतिदिन जल्दी उठकर घुमे फिरें, पार्टी करें, दोस्तों के साथ घुमने जाएँ. इससे आपकी एकाग्रता भी बढती है और आपको खुद पर नियंत्रण भी रहता है.


डिप्रेशन या अवसाद के कारण, लक्षण और उससे दूर रहने के अन्य उपयों को जानने के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते हो. 
डिप्रेशन से मुक्ति
डिप्रेशन से मुक्ति
Depression ko Kaise Door Karen, डिप्रेशन को कैसे दूर करें, How to Avoid Depression, Get Rid of Depression, Identify Depression, Depression ki Pahchan or Ilaj, अवसाद की पहचान और उसका इलाज, Depression se Mukti.



Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

2 comments:

  1. sir mera sar bhari lagta hai aur raat me sapne poori raat dekhkar subah dil dhak dhakaya karta hai

    ReplyDelete
    Replies
    1. Bhai kabhi kabhi mere sath bhi hota h esa

      Delete

ALL TIME HOT