इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Shanidev Ji ki Stri Roop Dharan Katha | शनिदेव जी की स्त्री रूप धारण कथा | Why Lord Shani Transformed Himself in a Woman

शनिदेव का स्त्री रूप धारण ( When Shanidev Changed Himself in a Woman

शनिदेव यानि वो देवता जिन्हें शनिवार को पूजा जाता है. लोग शनिवार के दिन इनकी साधना के लिए काले वस्त्र, काले तिल व सरसों के तेल का दान करते हैं. कुछ लोग ये भी कहते हैं कि शनि देव सजा देने वाले देवता हैं. यदि आप कोई पाप कर्म करते हैं तो शनि की साढे साती में फंस जाते हैं जिसके असर से आपकी ज़िन्दगी में साढे सात  से गुना होकर ऐसा वक्त आता है जिसमे आपके सिर पर मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ता है. CLICK HERE TO KNOW कष्ट निवारक बजरंग बाण ...
Shanidev Ji ki Stri Roop Dharan Katha
Shanidev Ji ki Stri Roop Dharan Katha
शनि देव का एक नया रूप (New Avatar Of Shani Dev) :
खैर जितने लोग उतनी बातें, मैं तो ये मानता हूँ कि शनि देव बस एक पथ प्रदर्शक देवता हैं जो आपको कदम कदम पर आपको कुछ गलत करने से सचेत करते है. अगर आप सही रास्ते पर चलते हैं तो क्यूँ कोई देवता आप पर साढ़े - साती लगाएगा? शनि देव से जुडी एक और कहानी प्रचलित है जिसका जिक्र आप तब सुनते हैं जब आप गुजरात राज्य में भावनगर के सारंगपुर में हनुमान जी के प्राचीन मंदिर में जाते हैं. यहाँ हनुमान जी की प्रतिमा के पैरों में शनिदेव स्त्री रूप धारण किये बैठे हैं.

हनुमान जी के चरणों में स्त्री कैसे (Why This Women Stood In Hanuman Ji’s Feet) :
सब जानते हैं कि हनुमान जी ने आजीवन किसी स्त्री से कोई सम्बन्ध नहीं रखा था व उनकी महज एक संतान थी जो किसी समुद्री जीव के गर्भ में उनके पसीने की एक बूँद गिर जाने से हुयी थी. फिर ये स्त्री उनके चरणों में क्या कर रही है? और ऐसा क्या हुआ कि शनिदेव को उनके चरणों में स्त्री का रूप धारण करके आना पड़ा, इसका जवाब भी हमें इसी मंदिर में मिलता है. दरअसल इससे एक पौराणिक कथा जुडी है. आइये जानते हैं वो पौराणिक कथा. CLICK HERE TO KNOW शनि दोष और उसके ज्योतिषी उपाय ...
शनिदेव जी की स्त्री रूप धारण कथा
शनिदेव जी की स्त्री रूप धारण कथा
हनुमान जी व शनि देव से जुडी पौराणिक कथा (An Old Story Related With Shani Dev And Hanuman Ji) :
दरअसल हनुमान जी व शनि देव जी के बीच काफी नोंक-झोंक हो जाया करती थी. एक समय शनिदेव का प्रकोप काफी बढ़ गया था. शनि के नाम भर से आम जनता कांपने लगती थी. शनि के इस कोप से जनता में त्राहिमाम त्राहिमाम हो गया और लोगों ने हनुमान जी से हाथ जोड़कर शनि देव का कोप शांत करने के लिए प्रार्थना की. चूँकि हनुमान जी सदैव अपने भक्तों की सहायता के लिए तत्पर रहते हैं, उन्होंने अपने भक्तों के संकट हरने का फैसला किया.

शनिदेव को भी इस बात का पता चला और ये जानकार कि हनुमान जी उनसे युद्ध कर सकते हैं, शनिदेव ने स्त्री रूप धारण कर लिया. चूँकि हनुमान जी एक ब्रह्मचारी थे, वो एक स्त्री पर हाथ नहीं उठा सकते थे. स्त्री रूप धारण करने के बाद शनि देव हनुमान जी के सामने झुक गए और हनुमान जी का क्रोध शांत हो गया. भक्तों पर से शनि देव का प्रकोप भी कम हो गया और उस स्थान पर भक्तों ने हनुमान जी का ये मंदिर बना दिया.
Why Lord Shani Transformed Himself in a Woman
Why Lord Shani Transformed Himself in a Woman

इस मंदिर से जुडी मान्यतायें (Traditions Related With This Temple) :
कहते हैं गुजरात के इस मंदिर के दर्शन करने मात्र से किसी भी इन्सान से शनि का प्रकोप हट जाता है. मंदिर सुन्दर है व किसी किले के समान विशाल व भव्य है.


शनिदेव और हनुमान जी की मित्रता की कहानी या किसी अन्य देवी देवताओं से जुडी रोचक कथाओं को जानने के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट कर जानकारी हासिल कर सकते हो. 
जब शनिदेव ने स्त्री रूप धारण किया
जब शनिदेव ने स्त्री रूप धारण किया
Shanidev Ji ki Stri Roop Dharan Katha, शनिदेव जी की स्त्री रूप धारण कथा, Why Lord Shani Transformed Himself in a Woman, जब शनिदेव ने स्त्री रूप धारण किया, Shani Stri Roop Katha, Shani Dev, Lord Shani Saturn, कष्टभंजन हनुमान मंदिर, Kyo Banna Pada Shanidev ko Aurat, Ekmatra Mandir Jahan Shanidev Stri Roop mein Hai.



YOU MAY ALSO LIKE  
- गुस्से और जिद्द पर काबू कैसे पायें

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT