इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

सब कुछ होने के बाद भी क्यों दुखी हैं मन | Sab Kuch Hone ke Baad Bhi Kyon Dukhi Hain Mann

सुख सुविधा होने बाद भी व्यक्ति खुश क्यों नहीं रह पाते (Why Are You Not Happy)
कुछ लोग सभी सुख सुविधाओं से सम्पन्न, अच्छी सेहत, अच्छा परिवार होने के बाद भी खुश नहीं रह पाते और सोचते हैं कि हमने न जाने कौन से ऐसे कर्म किये हैं कि हमें ख़ुशी नहीं मिल पाती. आज हम इस बारे में ही चर्चा करेंगे. अक्सर लोग अनजाने में या जानबूझ कर अपने दैनिक जीवन में कुछ ऐसी गलतियाँ कर जाते हैं. जिसके कारण उनके मन को शांति नहीं मिल पाती और सभी साधन होने के बाद भी उनका मन बेचैन रहता हैं.

1.कर्मचारी (Employee) यदि आप किसी ऑफिस में कार्य करते हैं और अपने बोस के प्रति, अपने कार्य के प्रति ईमानदार नहीं हैं तो आप खुश नहीं रह सकते. क्योंकि आप अपने बोस की नजरों से बच जाते हैं लेकिन खुद की नजरों से और ऊपर वाले की नजरों से नहीं बच पाते. CLICK HERE TO READ MORE ABOUT खुश कैसे रहें ... 
सब कुछ होने के बाद भी क्यों दुखी हैं मन
सब कुछ होने के बाद भी क्यों दुखी हैं मन

2.ग्राहक (Customer) यदि आप एक दुकानदार या विक्रेता हैं और आपसे समान खरीदने के लिए जो व्यक्ति आते हैं उनका आप निरादर करते हैं, उनसे अच्छे से बात नहीं करते और वह ग्राहक आपकी दूकान से नाराज होकर चला जाता हैं और आपकी दूकान पर से जाने के बाद वह मन ही मन दुखी हो जाता हैं.

3.किरायेदार (Tenant) हमेशा मकान मालिक (land lord) अपने किरायेदारों को अपने से निम्न समझते हैं और उनके साथ दुर्व्यवहार करते हैं उनसे ठीक ढंग से बात नहीं करते, और उन्हें हर बार यह एहसास दिलाते हैं कि वो मकान मालिक हैं, उनको दबाने की कोशिश करते हैं, उन्हें छोटी – छोटी बातों के लिए टोकते रहते हैं, उन्हें वेवजह परेशान करने की कोशिश करते हैं. अपने किरायेदारों के साथ ऐसा व्यवहार करने के बाद आप कैसे खुश रह सकते हैं.  CLICK HERE TO READ MORE ABOUT तनाव के कारण लक्षण और उपचार ...
Sab Kuch Hone ke Bad Bhi Kyon Dukhi Hain Man
Sab Kuch Hone ke Bad Bhi Kyon Dukhi Hain Man
4.उधार लेने वाला (Borrower) मकान मालिकों की ही तरह ही उधार देने वाले व्यक्ति भी उधार लेने वाले को अपने से तुच्छ मानते हैं. जबकि उधार लेने वालों से जो ब्याज लेते हैं. वह ब्याज ही उनकी मूल आमदनी का स्त्रोत होता हैं, इस ब्याज से ही उसके घर में धन की बढ़ोतरी होती हैं. यदि हम किसी कम्पनी में काम करते हैं तो हम हमेशा अपने बोस को पूरी इज्जत देते हैं, उन्हें खुश रखने का प्रयास करते हैं. क्योंकि बोस ही वह व्यक्ति हैं जिससे हमें आय प्राप्त होती हैं. लेकिन ऐसा ही व्यवहार हम उधार लेने वाले व्यक्ति के साथ क्यों नहीं कर सकते. यदि आप भी उधार लेने वाले व्यक्ति को अपने से तुच्छ समझते हैं और उसे अधिक परेशान करने की कोशिश करते हैं तो आप खुश नहीं रह सकते.
Khush na Rahne ki Vajah
Khush na Rahne ki Vajah
इन चार चीजों पर यदि आप ध्यान देंगे. हमेशा अपने सामने खड़े व्यक्ति का सम्मान करेंगें, उनका आदर करेंगे और भूलकर भी किसी के मन को ठेस नहीं पहुंचाएंगे. तो आप हमेशा खुश रहेंगे. क्योंकि आपके आस – पास स्थित व्यक्ति भले ही आप पर ध्यान न दें. लेकिन आपको खुद इसका एहसास जरूर होता हैं और भगवान भी आपको कहीं न कहीं देखता रहता हैं.

खुश न रह पाने के अन्य कारणों के बारे में जानने के लिए आप नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते हैं.

Dukh Milne ke Karan
Dukh Milne ke Karan

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT