इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Peshaab mein Jalan ka Ghrelu Upchar | पेशाब में जलन का घरेलू उपचार | Home Remedies for Burning Urination Problem

पेशाब में जलन ( Burning Urination Problem )
अक्सर पेशाब करते वक़्त जलन का आभास होने लगता है इसलिए इसे एक सामान्य समस्या के रूप में देखा जाता है किन्तु ये है तो समस्या ही इसलिए इसे नजरअंदाज तो नहीं किया जा सकता वर्ना ये समस्या ही रोग का रूप ले लेती है. कई बार तो पेशाब में भारी जलन होने लगती है और दबाव डालने पर भी थोड़ी मात्रा में ही मूत्र आता है. आयुर्वेद इस स्थिति को मूत्र कृच्छ कहता है. पेशाब में जलन की समस्या स्त्री और पुरुष दोनों को हो सकती है. CLICK HERE TO KNOW अधिक पेशाब आने की परेशानी दूर करें ... 
Peshaab mein Jalan ka Ghrelu Upchar
Peshaab mein Jalan ka Ghrelu Upchar
पेशाब में जलन के कारण ( Causes of Burning Urination Problem ) :
-   मूत्र मार्ग में संक्रमण

-   किडनी में पथरी

-   डिहाइड्रेशन

-   लीवर में दिक्कत

-   मधुमेह

-   कुपोषण

-   संकीर्ण मूत्र मार्ग

-   अल्सर

-   नसों या रीढ़ की हड्डी का क्षतिग्रस्त होना

-   शुक्राणु संक्रमण

-   प्रोस्टेट ग्रंथि का बड़ा हो जाना

पेशाब में जलन का घरेलू उपचार ( Treatment for Burning Urination Problem ) :
·     पानी ( Drink More Water ) : जितना अधिक हो सके पानी पियें क्योकि शरीर में पानी की कमी के कारण मूत्र का रंग पीला पड जाता है और उसमें जलन आरंभ हो जाती है. तो आप हर दुसरे घंटे 1 से 1 ½ ग्लास पानी पी जाएँ. पानी से मूत्र मार्ग भी साफ़ रहता है. CLICK HERE TO KNOW मूत्रजलन की समस्या का आयुर्वेदिक उपचार ... 
पेशाब में जलन का घरेलू उपचार
पेशाब में जलन का घरेलू उपचार
·     नारियल पानी ( Coconut Water ) : डिहाइड्रेशन से मुक्त रहने और शरीर में पानी की कमी को पूरा करने में नारियल पानी का कोई जवाब नहीं. इसलिए आप समय समय पर नारियल पानी भी अवश्य पियें, इसका स्वाद बढाने के लिए आप इसमें धनिया पाउडर और गुड मिलाकर भी पी सकते हो.

·     खट्टे फलों का सेवन ( Eat Citrus Food ) : जैसाकि आप जानते ही हो कि खट्टे फलों में सिट्रस एसिड की मात्रा अधिक होती है, ये एसिड मूत्र संक्रमण को पैदा करने वाले सभी बैक्टीरिया को खत्म कर देता है और आपको स्वस्थ रखता है. 

·     आंवला ( Amla ) : आंवले का प्रयोग भी पेशाब की जलन को दूर करने के लिए किया जाता है इसके लिए आप इसका जूस, मुरब्बा या अचार डालकर भी इस्तेमाल कर सकते हो. 

·     लुब्रिकेंट ( Use Lubricant While Making Physical Relationship ) : शारीरिक संबंध बनाते वक़्त आप किसी तरह के प्रोटेक्शन का इस्तेमाल करें, बिना प्रोटेक्शन के संबंध बनाते वक़्त सूखापन आ जाता है और घर्षण बनता है. इस घर्षण के कारण ही मूत्र करते वक़्त जलन व दर्द का आभास होता है.
Home Remedies for Burning Urination Problem
Home Remedies for Burning Urination Problem
·     जननांग की स्वच्छता ( Clean Your Gentile Daily ) : अगर आप खुद को और अपने शरीर के सभी हिस्सों को साफ़ और स्वच्छ रखते हो तो संक्रमण की संभावना कम होती है. इसी तरह अगर आप अपने जननांग और लिंग को साफ़ रखेंगे तो उनमें भी कोई रोग उत्पन्न नहीं होगा. इसलिए दिन में 2 से 3 बार इनकी सफाई जरुर करें.

·     किडनी में पथरी ( Kidney Stone ) : किडनी में पथरी इस रोग का एक कारण है. इस पथरी को बाहर निकालने के लिए आप दिन के समय में नारियल पानी पियें और रात के समय बियर. ध्यान रहे कि अगर आप दिन में बियर पीते है तो उससे डिहाइड्रेशन होने लगती है.

·     चीनी और गुड ( Sugar and Jaggery ) : एक उपाय के अनुसार आप रात को सोते वक़्त 1 ग्लास पानी में 1 चम्मच धनिया पाउडर मिलाकर छोड़ दें और अगले दिन सुबह इस मिश्रण को छानकर उसमें गुड या चीनी मिलाकर पी जाएँ. इस उपाय के कुछ दिनों के प्रयोग के बाद ही आपको पेशाब की जलन में राहत मिलती है.

·     अनार का रस ( Pomegranate Juice ) : अनार का रस या शरबत दिन में दो बार पीने से शरीर में ठंडक पैदा होती है. आप अनार के स्थान पर फालसा भी प्रयोग में ला सकते हो.

·     बादाम ( Almond ) : रात को सोते वक़्त 5 से 7 गिरी बादाम की भिगोने के लिए रख दें और उन्हें अगले दिन छोटी इलायची व मिश्री के साथ खाएं. ये शरीर को शक्तिशाली और रोगमुक्त बनाता है.

·     कच्चा दूध ( Raw Milk ) : मूत्र मार्ग संक्रमण या पेशाब में जलन होने पर आप कच्चे दूध में थोडा पानी मिलाकर रोजाना पियें, जल्द लाभ मिलेगा.

·     ककड़ी ( Cucumber ) : ककड़ी शीतल, पाचक और अनेक गुणों का भण्डार होती है. अगर रोजाना ककड़ी को खाया जाएँ तो इससे मूत्र मार्ग को शीतलता मिलती है साथ ही मूत्र भी खुलकर आता है. गर्मियों में तो इसका प्रयोग लू से बचाव के लिए भी किया जाता है. इसमें स्टार्च, तेल, राल, शर्करा और क्षारीय तत्व की भरपूरता होती है. ये सब तत्व मूत्र कार्यप्रणाली को सुचारू रूप से चलाने में सहायक होते है.
मूत्र पथ संक्रमण
मूत्र पथ संक्रमण
·     केले ( Bananas ) : रोजाना केले खाएं और उसके ऊपर आंवले के रस में थोडा गुड या शक्कर मिलाकर पी जाएँ ये उपाय भी शीघ्र लाभ पहुंचाता है.

·     छुआरे ( Date ) : अगर किसी व्यक्ति को बार बार पेशाब आ रहा है तो उन्हें दूध में छुहारों को डालकर गर्म करना चाहियें, फिर उन्हें निकालकर खाना चाहियें, साथ ही दूध को भी पी जाएँ.

·     निम्बू ( Lemon Seeds ) : जबकि मूत्र ना आने या उसके रुका होने पर आप नीम्बू के बीजों को पिसें और उस पाउडर को नाभि पर डालकर ठंडा पानी डालें, इस तरह रुका हुआ पेशाब भी खुलकर आने लगता है.

·     शहतूत ( Mulberry ) : वे लोग जिनके पेशाब का रंग अधिक पेला है तो उन्हें दिन में 2 बार 250 ग्राम शहतूत का या गाजर का रस पीना चाहियें. इससे मूत्र का पीलापन दूर होता है.

पेशाब में जलन की समस्या को दूर करने के अन्य घरेलू आयुर्वेदिक उपायों को जानने के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते हो.
Peshaab mein Pilapan Jalan Dard ke Kaaran or Ilaaj
Peshaab mein Pilapan Jalan Dard ke Kaaran or Ilaaj

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT