इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

Sarp ke Kaatne par Karen Ye Prayog | सर्प के काटने पर करें ये प्रयोग | Tips to Treat Snake Bite

साँप के काटने पर अपनायें ये प्रयोग ( First Aid for Snakebite )
साँप के विष को उतारने के तरीके बताने से पहले हम आपको साँपों के बारे में एक ख़ास बात बता देते है कि सिर्फ भारत में ही करीब 550 किस्म के साँप पायें जाते है जिनमें से मात्र 10 साँप ही ऐसे है जो जहरीले है. बाकी के 540 साँपों से घबराने की कोई जरूरत नहीं होती क्योकि उनके काटने पर किसी को कुछ नहीं होता. किन्तु साँप  के काटने का डर ही लोगों में कुछ ऐसा होता है कि लोग चिल्लाने लगते है कि साँप ने काट लिया. कुछ लोग तो इस डर को सहन नहीं कर पाते और हार्ट अटैक का शिकार हो जाते है.

अगर सबसे जहरीले साँपों की बात की जाए तो उनमें मुख्य 4 इस प्रकार है. CLICK HERE TO KNOW सांप या सर्प के कांटने पर उपचार ... 
Sarp ke Kaatne par Karen Ye Prayog
Sarp ke Kaatne par Karen Ye Prayog
-   Russell Viper : ये सबसे अधिक जहरीला साँप है. 

-   Karit : ये भी बहुत जहरीला साँप है.

-   Viper : Karit के बाद नंबर आता है Viper का. ये दीखता तो बहुत कम है किन्तु जहर की इसमें कोई कमी नहीं होती.

-   Cobra : सामान्य लोग इसे काले नाग या किंग कोबरा के नाम से जानते है और इसके नाम का इतना आतंक है कि इसे देखकर भगदड़ मच जाती है.

अगर इनमें से कोई भी साँप किसी को काटता है तो उसकी मृत्यु लगभग निश्चित ही होती है लेकिन थोड़ी सी समझदारी और जानकारी पीड़ित की जान बचाने में सहायक हो सकती है. CLICK HERE TO KNOW जहरीले डंक से बचने के उपाय ... 
सर्प के काटने पर करें ये प्रयोग
सर्प के काटने पर करें ये प्रयोग
कैसे फैलता है साँप का जहर ( How Snake Venom Spreads ) :
साँप के दो दांतों में जहर होता है जिसे वो अपने शिकार की मांसपेशियों में गाड़ता है और जहर को खून में मिला देता है. लेकिन साँप चाहे कहीं भी काटें सबसे पहले उसका जहर ऊपर की तरफ बढ़ते हुए दिल तक पहुँचता है अर्थात अगर वो पैर में काटेगा तो पहले दिल तक जाएगा और दिल से जहर पुरे शरीर में पहुंचेगा. इसके अलावा खून को पुरे शरीर में मिलने में करीब 3 घंटे लगते है और जब तक जहर दिमाग और शरीर के हर हिस्से में नहीं फ़ैल जाता तब तक व्यक्ति की मृत्यु नहीं हो सकती. इस तरह देखा जाए तो रोगी को बचाने के लिए 3 घंटे होते है. उस समय में आप कुछ उपायों को अपना सकते हो, ऐसे ही उपाय नीचे दिए गए है जिनकी मदद से आप किसी व्यक्ति को नया जीवनदान दे सकते हो.

साँप के काटने पर प्रयोग ( Experiments on Snake Bites ) :
·     अगर किसी व्यक्ति को साँप काट लें तो उसे नीम के कडवे पत्ते खिलाएं. अगर पीड़ित व्यक्ति को पत्ते कडवे नहीं लगते तो समझ जाएँ कि जहर तेजी से फैलने लगा है. उसके बाद 6 स्वस्थ व्यक्ति आये, जिसमें से 2 पीड़ित व्यक्ति के हाथ पकडे, 2 पैर, 1 सिर और 1 उसे लिटाये और उसे सुलाने की कोशिश करें. इन 6 लोगों को पीड़ित को इस तरह पकड़ना है कि वो ज़रा भी ना हिल पाए.
Tips to Treat Snake Bite
Tips to Treat Snake Bite
·     अब कुछ व्यक्तियों से पीपल के 20 25 हरे पत्ते डाली समेत मंगवाएं, उनमें से 2 पत्तों को लेकर इस मंत्र का जाप करें  सुपर्णा पक्षपातेन भूमिं गच्छ महाविष  और पत्ते के दूध निकलने वाली जगह अर्थात डंठल को रोगी के कान के अंदर डालें. ध्यान रहें कि पत्ता इतना अंदर ना जाएँ कि कान के पत्तों को कोई हानि पहुंचें. आपको एक बात और बता दें कि जैसे जैसे पत्ता कान के अंदर जाएगा पीड़ित व्यक्ति को दर्द होने लगेगा और वो दर्द के कारण चिल्लाने लगेगा किन्तु आप उसको हिलने ना दें वर्ना वो पत्ते को निकाल देगा. साथ ही आप पत्ते को भी कसकर पकडे रहें क्योकि वो भी अंदर की तरफ खींचने लगेगा.

·     हर 2 मिनट के बाद आपको पत्ते बदलने है और आपको पत्ता तब तक कान में रखना है जब तक रोगी चिल्लाना बंद ना कर दें. इस तरह पत्ता सारा जहर खिंच लेता है और रोगी के शरीर का सारा जहर खत्म हो जाता है और उसकी चिल्लाहट के बंद होने का यही अर्थ है. कुछ देर बाद पीड़ित खुद ही शांत हो जाएगा तब समझ जाएँ कि व्यक्ति की हालत सामान्य है.
कैसे फैलता है साँप का जहर
कैसे फैलता है साँप का जहर
·     जब जहर उतर चुका हो तो आप उसे खीरे पर नमक लगाकर खिलाएं. अगर वो खा लें तो उसको कुछ देर बाद 100 से 150 ग्राम शुद्ध देशी घी में पीसी हुई काली मिर्च डालकर पिलायें और उसके कानों में भी तेल की कुछ बूंदें डाल दें ताकि उसका कान ना पकें. इसके बाद पीड़ित को सोने के लिए भेज दें.

·     जिन पत्तों को आपने कान में डाला था अर्थात प्रयोग में लाया था या तो उन्हें जला दें या गाड दें क्योकि अगर किसी जानवर ने उन्हें खा लिया तो जहर के कारण उनकी मृत्यु हो जायेगी. ये एक ऐसा प्रयोग है जिसकी मदद से किसी भी व्यक्ति को मृत्यु के मुख से भी वापस लाया जा सकता है. ये एक ऐसा चमत्कारिक उपाय है जिसे उस वक़्त भी अपनाया जा सकता है जब व्यक्ति बेहोश हो या उसकी नाक बैठ गयी हो.

अगर कोई जहर पी ले तो अपनाएँ ये उपाय ( If Anyone Drinks Venom or Poison ) :
चाहे व्यक्ति ने कितना भी खतरनाक विष क्यों ना पिया हो उसे निम्नलिखित किसी भी पदार्थ को खिलाकर तब तक उल्टी करायें जब तक सारा नीला पित्त बाहर ना निकल जाए.

-   नीम के पत्तों का कडवा रस 

-   मुलहेठी का चूर्ण

-   कड़ी तुम्बी के गर्भ का पाउडर

-   मदनफल का चूर्ण

-   घोडावज का चूर्ण
Sarp ke Vish ko Nasht Kare ye Nuskhe
Sarp ke Vish ko Nasht Kare ye Nuskhe
साँप के विष को नष्ट करने के घरेलू उपाय ( Home Remedies to Cure Snake Bite and Venom ) :
·     लोहे को तपाकर उस स्थान पर लगाएं जहाँ साँप ने डंक किया है. इससे साँप का प्राणघातक जहर तुरंत उतर जाता है.

·     जिस स्थान पर साँप ने काटा है वहाँ तुरंत चीरा लगाकर जहर को बाहर निकाल दें और उसके स्थान पर पोटैशियम परमैगनेट भर दें, इस तरह जहर फैलना व चढ़ना बढ़ होने लगता है. इसके बाद रोगी को 1 ग्लास ठन्डे पानी में 10 ग्राम मदनफल का चूर्ण मिलाकर पिलायें, इससे उसे उल्टी होने लगेगी और जहर निकल जाएगा.

·     तुलसी का जीवन में महत्व सभी जानते है, अगर साँप के काटने से पीड़ित व्यक्ति को तुरंत तुलसी खिला दी जाएँ या तुलसी के रस का सेवन करा दिया जाएँ तो भी उसके जीवन की रक्षा होती है.

साँप के विष को उतारने के अन्य खास चमत्कारिक प्रयोगों को जानने के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते हो. 
Naag ke Vish ko Utarne ke Ghrelu Tarike
Naag ke Vish ko Utarne ke Ghrelu Tarike

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT