इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Blueberry In Sabko Control Karta Hai | ब्लूबेरी इन सबको कण्ट्रोल करता है | Blueberry Controls These Diseases

ब्लूबेरी ( Blueberry )
अपने नाम के अनुसार ही ब्लूबेरी का रंग नीला होता है इनका स्वाद खाने में खट्टे के साथ हल्का मीठा, वहीँ इनका आकार थोडा छोटा होता है. ब्लूबेरी के आसपास आपको सिल्वर रंग में अनेक कलियाँ देखने को मिलेंगी, जब ये कलियाँ पकने लगती है तो इनका रंग लाल हो जाता है और अंत में ये नीले रंग में परिवर्तित हो जाती है. इन बेरियों के पकने का मुख्य समय मई और जून का महीना होता है इसीलिए इन महीनों में ब्लूबेरी के कई सामानों पदार्थों को आप बाजार में देख सकते हो. CLICK HERE TO KNOW छोटी सी चेरी के बड़े बड़े गुण ... 
Blueberry In Sabko Control Karta Hai
Blueberry In Sabko Control Karta Hai
ब्लूबेरी उन फलों में शामिल है जो खाने में स्वादिष्ट होने के साथ साथ सेहत के लिए भी फायदेमंद होता है. इसमें अनेक ऐसे तत्व पायें जाते है जो रोगों को शरीर से दूर रखते है. अगर कोई व्यक्ति नियमित रूप से ब्लूबेरी का सेवन करता है तो ये कैंसर, मधुमेह, हाइपरटेंशन और ब्लड प्रेशर जैसे कई रोगों से सुरक्षा प्रदान करता है. ब्लूबेरी पौषक तत्वों की खान मानी जाती है. इसके पाए जाने वाले तत्व निम्नलिखित है.

100 ग्राम ब्लूबेरी में पाए जाने वाले पौषक तत्व ( Nutrients Found in 100 g Blueberry ) :
-    57 ग्राम : कैलोरी

-    0.3 ग्राम : कुल वसा

-    0.1 ग्राम : बहुअसंतृप्त वसा

-    0 ग्राम : संतृप्त वसा

-    0 ग्राम : मोनोसंतृप्त वसा

-    0 मिलीग्राम : कोलेस्ट्रोल

-    1 मिलीग्राम : सोडियम

-    77 मिलीग्राम : पोटैशियम

-    14 ग्राम : कुल कार्बोहायड्रेट

-    2.4 ग्राम : आहारीय रेशा

-    10 ग्राम : शक्कर

-    0.7 ग्राम : प्रोटीन

-    54 IU : विटामिन ए

-    9.7 मिलीग्राम : विटामिन सी

-    6 मिलीग्राम : कैल्शियम

-    0.3 मिलीग्राम : आयरन

-    0 IU : विटामिन डी

-    0.1 मिलीग्राम : विटामिन बी6

-    12 0 ug : विटामिन बी

-    6 मिलीग्राम : मैग्नीशियम 
ब्लूबेरी इन सबको कण्ट्रोल करता है
ब्लूबेरी इन सबको कण्ट्रोल करता है
ब्लूबेरी का रोगों में प्रयोग ( Use of Blueberry in Diseases ) :
·         कैलोरी कम करें ( Reduce Calorie ) : मोटापे का मुख्य कारण शरीर में कैलोरी की मात्रा का बढना होता है, लेकिन ब्लूबेरी खाने से शरीर में फाइबर की मात्रा बढती है जो कैलोरी व मोटापे पर नियंत्रण बनायें रखता है. ये पेट और कमर पर जमा हुई सभी अतिरिक्त चर्बी को खत्म करने में सहायक होता है. कुछ शोधों में तो ये भी पता चला है कि ब्लूबेरी रक्त की शर्करा को भी कम करता है.

·         झाइयाँ व झुर्रियाँ हटाये ( Removes Wrinkles and Finelines ) : महिलाओं की खूबसूरती को बनायें रखने के लिए जरूरी है कि उनके चेहरे पर कभी झाइयाँ व झुर्रियाँ ना हो. वैसे आपको बता दें कि झाइयों का कारण हानिकारक एचडीएल कोलेस्ट्रोल होता है. वहीँ ब्लूबेरी के एंटीओक्सिडेंट तत्व इन हानिकारक तत्वों को कम करने में सहायक होते है. जिससे चेहरा साफ, निखरा हुआ और जवान बना रहता है.
Blueberry Controls These Diseases
Blueberry Controls These Diseases
·         कोलेस्ट्रॉल कम करें ( Reduces Cholesterol ) : ब्लूबेरी का एक अन्य तत्व आर्टेरियललेरोसिस रक्त वाहिकाओं में कोलेस्ट्रॉल को जमे नही देता. अगर आप ऐसा आहार खाते है जिसमें कैलोरी की मात्रा अधिक है तब आप उसके ऊपर ब्लूबेरी खा सकते है क्योकि ऐसा करने से बढ़ी हुई कैलोरी का प्रभाव कम हो जाता है.

·         मधुमेह ( Good in Sugar Diabetes ) : हर चिकित्सक मधुमेह के रोगियों को ब्लूबेरी खाने की सलाह अवश्य देता है क्योकि इसे मधुमेह से निजात पाने के लिए एक बेहतरीन औषधि माना जाता है. मधुमेह में ना इसका फल बल्कि पत्तियाँ भी उपयोगी होती है क्योकि इसकी पत्तियों में एक ऐसा तत्व होता है जो शरीर के मेटाबोलिज्म को नियंत्रित तो करता ही है साथ ही ग्लूकोस को भी शरीर के हर हिस्से तक पहुंचाने का कार्य करता है. इस तत्व का नाम है एंथोसियानीडीनस, ये शुगर को स्तर को बढ़ने नहीं देता जिससे आप मधुमेह रोग से बचे रहते हो.
नीलबदरी ब्लूबेरी में पोषक तत्व
नीलबदरी ब्लूबेरी में पोषक तत्व
·         तनाव से बचाएं ( Removes Stress Tension ) : चिंता को चिता समान माना जाता है और माना जाता है कि इससे बाहर निकलने के लिए मनुष्य को अपनी आत्मशक्ति का इस्तेमाल करना पड़ता है किन्तु सप्ताह में 2 बार 50 50 ग्राम ब्लूबेरी खाने से ये आपके मस्तिष्क को इतनी शक्ति प्रदान करता है कि आप तनाव से लड़ने के लिए सक्षम हो जाते हो. इसके पीछे भी ब्लूबेरी का एक तत्व ही है जिसे एंथोकायनिंस कहा जाता है ये एक बायो एक्टिव पदार्थ है.

·         हार्ट अटैक से बचाए ( Protects from Heart Attack ) : अमेरिका के एक कृषि विभाग ने ये पता लगाया कि ब्लूबेरी धमनियों को कडा होने से रोकती है, जिससे रक्त संचार में कोई बाधा नहीं आती और धमनियों का कडा हो जाना ही दिल के दौरे की अहम वजह होती है तो इस तरह देखा जाएँ तो ब्लूबेरी हार्ट अटैक की संभावनाओं को भी कम करता है. इसमें फ्लेविनाइड नाम का तत्व भी पाया जाता है जो दिल को अनेक रोगों से बचाएं रखता है. 

·         पाचन शक्ति बढाये ( Increases Digestion ) : ब्लूबेरी में फाइबर की प्रचुर मात्रा होती है और इसीलिए ये पाचन शक्ति को मजबूती प्रदान करता है. इसका सेवन करने वालों को कभी कब्जी की समस्या से परेशानी नहीं होती. इसके अलावा इसमें पाए जाने वाले मिनरल और अन्य पौषक तत्व शरीर के लिए और पाचन क्रिया के लिए काफी जरूरी होते है.
Swasthya ke Liye Laabhdaayi Blueberry
Swasthya ke Liye Laabhdaayi Blueberry
·         याददाश्त तेज करें ( Improve Memory Power ) : माना जाता है कि जैसे जैसे उम्र बढ़ती जाती है वैसे वैसे इंसान की याददाश्त भी कमजोर होने लगती है. किन्तु ब्लूबेरी का सेवन करने वालों के साथ ऐसा नहीं है. ये ना सिर्फ दिमाग को शक्ति और मानसिक ताकत प्रदान करता है बल्कि याददाश्त को भी मज्बूत्त बनायें रखता है.

·         आँखों की समस्यायें रखें दूर ( Keeps Eye Problem Away ) : याददाश्त की ही तरह लोग मानते है कि समय के साथ आँखें भी कमजोर हो जाती है तो आपकों बता दें कि ब्लूबेरी में एंथोसाइनोसाइडस नाम का तत्व भी निहित होता है जो आँखों की सभी समस्याओं जैसे मोतियाबिंद, रतौंधी, कमजोर आँखें इत्यादि को दूर रखने में सहायक सिद्ध होता है.  

·         संक्रमण से बचाएं ( Protects form Infection ) : जैसाकि हमने पहले भी बताया कि ब्लूबेरी में एंटीओक्सिडेंट की कोई कमी नहीं है, इसीलिए ये हर तरह के संक्रमण से शरीर को सुरक्षा प्रदान करने में सक्षम रहता है.

·         कैंसर ( Fights with Cancer ) : कैंसर वो जानलेवा बीमारी है जिसका नाम मात्र ही पीड़ित की जान लेने के लिए काफी है. इसका उपचार आसानी से संभव नहीं लेकिन इसका बचाव संभव है और उसके लिए सबसे बेहतर है ब्लूबेरी. क्योकि इसमें कैंसर से लड़ने वाले दो तत्व है पहला टेरोस्टिलबीन और दूसरा एलेगिक एसिड. ये दोनों मिलकर कैंसर की संभावनाओं को ना के बराबर कर देते है.

ब्लूबेरी के रोगों से बचाव में अन्य प्रयोग और उपयोगों के बारे में अधिक जानने के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते हो. 
Upyogi Gunon se Bhari Blueberry
Upyogi Gunon se Bhari Blueberry

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT