इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Ramcharit Manas ki Panktiyan Karen Manokamna Purti | रामचरित मानस की पंक्तियाँ करें मनोकामना पूर्ति | The Lines of Ramcharitra Manas Fulfils Desire

मनोकामना पूर्ति की पंक्तियाँ ( Lines for the Fulfillment of Desires )
तुलसी दास के द्वारा रचित रामचरित मानस अपने आप में ही बहुत अद्भुत है, क्योकि इस ग्रन्थ की हर चौपाई एक मंत्र के समान ही सिद्ध और लाभकारी है, इसलिए जब इनके मंत्रों का जाप किया जाता है तो मनोकामनापूर्ति होती है. इसके अलावा ये मंत्र मन में एक ऊर्जा का संचार करती है जिसे आप अनुभव भी करते है. CLICK HERE TO KNOW श्री रामचरित मानस के सिद्ध मंत्र ... 
Ramcharit Manas ki Panktiyan Karen Manokamna Purti
Ramcharit Manas ki Panktiyan Karen Manokamna Purti
वैसे भी हर व्यक्ति की कोई ना कोई इच्छा अवश्य होती है अर्थात कोई धनवान बनना चाहता है तो कोई सुख शान्ति हासिल करना चाहता है, वहीं कोई परीक्षा में पास होने के सपने देखता है या कोई अंदरूनी शान्ति की तलाश में रहता है किन्तु ये सब चीजें मिलना बहुत मुश्किल होता है किन्तु घबराएं नहीं क्योकि रामायण की हर चौपाई आपकी अलग अलग इच्छाओं को पूरा करती है. तो आओ जानते है कि कौन सी चौपाई से कौन सी इच्छा पूरी होती है.

·         धन प्राप्ति ( Want Money ) : अगर आप धन की कामना है तो आपको राम चरित मानस की इन चौपाइयों का जाप करना चाहियें. “ जे सकाम नर सुनहिं जे गावहिं। सुख सम्पत्ति नानाविधि पावहिं।। ”.

·         लक्ष्मी जी की कृपा ( Blessings of Goddess Lakshmi ) : वहीँ लक्ष्मी जी की हमेशा कृपा पाने की चाह रखने वालों को इन चौपाई का जाप करना है “ जिमि सरिता सागर मंहु जाही। जद्यपि ताहि कामना नाहीं।। तिमि सुख संपत्ति बिनहि बोलाएं। धर्मशील पहिं जहि सुभाएं।। “. CLICK HERE TO KNOW चमत्कारिक गायत्री महामंत्र का महत्व ... 
रामचरित मानस की पंक्तियाँ करें मनोकामना पूर्ति
रामचरित मानस की पंक्तियाँ करें मनोकामना पूर्ति
·         सुख शान्ति की चाह ( Want Peace ) : आजकल लोग सुख शान्ति की तलाश में अधिक घूमते है. ऐसे लोगों को जीवन में खुशियाँ तभी मिलती है जब वे इन मन्त्रों का जाप करते है. “ सुनहि विमुक्त बिरत अरू विबई। लहहि भगति गति संपति नई।। ”.

·         ज्ञान प्राप्ति ( Knowledge ) : ज्ञान प्राप्ति की चाह हर विद्यार्थी की चाह होती है, क्योकि यही उनके भविष्य और जीवन का आधार होती है इसीलिए उन्हें हमेशा इन लाइन का जाप करना है “ गुरु ग्रह गए पढ़न रघुराई। अलपकाल विद्या सब आई।। छिति जल पावक गगन समीरा। पंचरचित अति अधम शरीरा।। ”.

·         प्रेम वृद्धि ( Increase Love ) : आजकल तो हर युवा की एक ही चाह होती है और वो है एक साथी और उसका प्रेम, ऐसी ही चाह रखने वालों के लिए रामचरितमानस में ये मंत्र दिया गया है “ सब नर करहिं परस्पर प्रीती। चलहिं स्वधर्म निरत श्रुतिनीती।। ”.

·         शत्रुता दूर करे ( Remove Enemy ) : अगर आपके शत्रुओं की संख्या बहुत ज्यादा है, तो उनसे छुटकारा पाने के लिए आपको रोजाना प्रतिदिन इन चौपाईयों को जपना है. “ गरल सुधा रिपु करहि मिताई। गोपद सिंधु अनल सितलाई।। ”.

·         प्रेत आत्माओं से छुटकारा ( Remove Demons Ghosts ) : कुछ लोगों के ऊपर ओपरा पराया का साया होता है ऐसे में पीड़ित और उसके परिवार का जीवन नर्क बन जाता है तो उन्हें इस समस्या से बाहर आने के लिए इस मंत्र का जाप करना है “ प्रनवउ पवन कुमार खल बन पावक ग्यान धुन। जासु हृदय आगार बसहि राम सर चाप घर।। ”.

·         पुत्र प्राप्ति की चाह ( Wishing Son ) : अगर आप पुत्र की चाह रखते है तो आपको आपको रामचरितमानस मानस की इन चौपाई का पाठ अवश्य करना चाहियें “ प्रेम मगन कौशल्या निसिदिन जात न जान। सुत सनेह बस माता बाल चरित कर गान।। ”.
The Lines of Ramcharitra Manas Fulfils Desire
The Lines of Ramcharitra Manas Fulfils Desire
·         विचारों में शुद्धता ( Want to Purify Brain ) : कुछ लोगों के विचार में सात्विकता खत्म हो जाती है ऐसे लोगों के लिए तुलसीदास जी द्वारा रचित रामचरितमानस की इन पंक्तियों का उच्चारण करने से लाभ मिलता है “ ताके जुग पद कमल मनावऊं। जासु कृपा निरमल मति पावऊं।। ”.

·         ईश्वर से क्षमा याचना ( Confession to God ) : हमसे अनजाने में कुछ गलतियाँ हो जाती है जिनसे लिए हमे ईश्वर से क्षमा अवश्य मांगनी चाहियें और उन तक हमारी क्षमा याचना पहुंचें इसके लिए आप इन पंक्तियों का पाठ करें “ अनुचित बहुत कहेउं अग्याता। छमहु क्षमा मंदिर दोउ भ्राता।। ”.

·         यात्रा में सफलता ( Successful Journey ) : जब आप किसी कार्य के लिए यात्रा करते है तो आपकी यही चाह होती है कि आपकी यात्रा अवश्य सफल हो. अपनी इस इच्छा की पूर्ति आप इस मंत्र के उच्चारण से कर सकते हो “ प्रबिसि नगर कीजै सब काजा। हृदय राखि कौशलपुर राजा।। ”.

मनोकामना पूर्ति और मनवांछित फल की प्राप्ति के अन्य उपाय व तरीकों के बारे में अधिक जानने के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट करेक जानकारी हासिल कर सकते हो. 
मनवांछित फल प्राप्ति के लिए रामचरित मानस के मंत्र
मनवांछित फल प्राप्ति के लिए रामचरित मानस के मंत्र

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT