इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

SexKarne ki Sahi Umar | सहवास करने की सही उम्र | Mature Age for Physical Love

सहवास करने की उम्र कितनी होनी चाहिए
वर्तमान समय में तो सहवास की कोई निर्धारित उम्र ही नहीं है क्योंकि आज के समय में तो नादान उम्र के बच्चे भी सहवास करने के लिए उत्सुक रहते है. फिर भी इन बातों को छोड़ दे तो सहवास करने की सही उम्र वह होती है जब कोई लड़का या लड़की बालिग हो. उन्हें यह मान्यता मेडिकल तौर पर होनी चाहिए.

बालिग अवस्था में ही शरीर में ऐसे परिवर्तन होने लगते है जो हमें अपने विपरीत लिंग की तरफ खींचते है. ये परिवर्तन होने पर ही सहवास की इच्छा बढ़ने लगती है. सहवास के दौरान व्यक्ति बहुत ख़ुशी प्राप्त करता है लेकिन इसके कुछ बुरे प्रभाव भी है जिनसे बचने के लिए हमें इसकी पूरी जानकारी होनी चाहिए. पूरी जानकारी लेकर सहवास करने से ही इसके बुरे प्रभावों से बचा जा सकता है. CLICK HERE TO READ MORE SIMILAR POST ...
SexKarne ki Sahi Umar
SexKarne ki Sahi Umar 
सहवास के बुरे प्रभाव :
-    जब तक लड़कियां शारीरिक तौर पर पूरी तरह विकसित न हो चुकी हो और उनकी पूरी तरह से सहवास में रूचि न हो या उन्हें कभी इसकी इच्छा न हुई हो तब तक उन्हें सहवास नहीं करना चाहिए. मेडिकल साइंस के अनुसार भी यह बात बिलकुल सही है क्योंकि यदि वे ऐसा न मानकर सहवास करती है तो उन्हें प्रेगनेंसी की समस्या का सामना करना पड़ सकता है.

-    यदि कम उम्र में कोई लड़की सहवास कर लेती है तो उसे सरवाईकल कैंसर जैसी बीमारी का सामना भी करना पड़ सकता है जोकि बहुत ही घातक बीमारी है. CLICK HERE TO READ MORE SIMILAR POST ...
सहवास करने की सही उम्र
सहवास करने की सही उम्र 
वर्तमान समय में जो मुख्य मुद्दा है वो है सहवास करनी की उम्र और सहवास किस उम्र तक के लोग कर सकते है. यह मुद्दा बहुत ही खास है और हर जगह इस बारे में चर्चा होती रहती है. सहवास के बारे में जो निष्कर्ष निकले है या जो लोगो की आम राय है उसके अनुसार 60 वर्ष की आयु तक कोई भी व्यक्ति सहवास कर सकता है. लेकिन मेडिकल साइंस के अनुसार इसकी उम्र और भी बढ़ सकती है. इस उम्र के आगे भी लोग सहवास करने में सक्षम हो सकते है.

सहवास का ज्ञान :
महिला और पुरुष दोनों में सेक्सुअल तरीके बिलकुल अलग है. CLICK HERE TO READ MORE SIMILAR POST ...
Mature Age for Physical Love
Mature Age for Physical Love
पुरुष :
पुरुष की उत्तेजना बहुत ही कम उम्र से ही हो जाती है. पुरुष में सन्तान पैदा करने के क्षमता 13 वर्ष से 16 वर्ष की आयु के बीच शुरू हो जाती है. इस उम्र के दौरान उनके शारीरिक बदलाव बहुत होते है. 18 वर्ष की उम्र तक पहुँचते पहुंचते वे सहवास की सभी क्रियाओं में माहिर हो जातें है उन्हें सहवास की सभी कलाओं का ज्ञान हो जाता है. जब लड़के 18 वर्ष की उम्र को पार कर लेते है तो 30 साल तक की उम्र तक वे इस कला में बिलकुल परिपक्व हो जाते है. इस उम्र में वे लगातार दो स्खलन कर सकते है लेकिन 40 की उम्र होते होते इनमे कमी आनी शुरू हो जाती है. उनकी सहवास उत्तेजना कम होने लगती है और सहवास क्रिया भी शिथिल होने लगती है. इस तरह 50 के उम्र होते ही उनकी सहवास की उत्तेजना उनकी जवानी की उम्र की लगभग आधी रह जाती है. इस उम्र में वे सहवास के लिए इतने उत्साहित नहीं रहते है उनके सहवास की इच्छा घटने लग जाती है. जैसे जैसे आदमी की उम्र बढती है वैसे ही उनकी सहवास की इच्छाएं कम होती जाती है. इसमें कुछ उनकी शारीरिक कमियों के कारण हो जाता है और कुछ उनकी इन्द्रियों में कमी आने के कारण हो जाता है. इसके अलावा जिन व्यक्तियों सहवास की इच्छा कमजोर हो जाती है उनकी कमी का सबसे बड़ा कारण होता है उनकी मानसिक कमजोरी यह उनकी शारीरिक कमजोरी के कारण नहीं होता नही. जिन व्यक्तियों की सहवास उत्तेजना कम हो जाती है या फिर र्स्खलन जल्दी हो जाता है उनमे 60 प्रतिशत कारण मानसिक कमजोरी से होते है.
भोग की आयु
भोग की आयु
महिलायें :
इसके आलावा महिलाओं में सहवास की क्षमता और संतान पैदा करने की शक्ति पुरुषों से पहली ही आ जाती है. महिलाओं में पुरुषों की अपेक्षा 2 साल पहले ही यौवन शुरू हो जाता है. उनमे यौवन 14 या 15 वर्ष की उम्र में शुरू हो जाता है. महिलाओं में सहवास की उत्तेजना पुरुषों से अलग होती है और यह उत्तेजना कम होने की उम्र भी पुरुषों से अलग होती है. महिलाओं में यह परिवर्तन मेनोपोज (रज्जोनिवृत्ति) तक धीरे धीरे होता है. ऐसा होने की उम्र लगभग 40 से 55 तक की है. इसके बाद जो परिवर्तन होते है वे बहुत अलग तरीके के होते है. ये परिवर्तन बड़े नाटकीय अंदाज के होते है. ये परिवर्तन महिलाओं में सहवास की इच्छा को ख़त्म कर देते है इसके बाद उनमे सहवास की कोई दिलचस्पी नहीं रहती है. यह होने के बाद वे सामान्य तरीके से सहवास का मजा नहीं ले सकती है. लेकिन वर्तमान में कुछ विचारों और मेडिकल साइंस के अनुसार इसके बाद भी सहवास का मजा लिया जा सकता है. एक उम्र हो जाने के बाद भी महिलाएं सामान्य तरीके से सहवास का आन्नद ले सकती है.

महिला और पुरुष के शारीरिक संबंधो के बारे में अधिक जानकारी या किसी तरह की सहायता के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकती है. 
Bhog ke Liye Sahi Samay
Bhog ke Liye Sahi Samay

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT