इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Dhaak Palaash Ke Aushdhiya Prayog or Gun | ढाक पलाश के औषधीय प्रयोग और गुण | Medicine Uses and Qualities of Dhaak Palaash

पलाश को प्रयोग करने के लाभ ( Benefits of Using Palaash )
आप इस बात अंदाजा भी नहीं लगा सकते कि प्रकृति ने हमको क्या क्या दिया है. आपने अनुभव किया होगा कि बहुत कुछ ऐसा भी है जो हमारे पास होता है लेकिन हम उसकी कद्र नहीं करते और जब वो हमसे छीन लिया जाता है तब हमको उसकी अनुपस्थिति बहुत ज्यादा प्रभावित करती है. ऐसा ही कुछ हमारा रिश्ता है प्रकृति के साथ, जिसने हमको दिया तो बहुत कुछ है, लेकिन कई बार हमे किसी चीज की जानकारी नही होती है. वनस्पति की इन चीजों का अगर सही ढंग से प्रयोग ना किया जाए तो वे व्यर्थ हो जाती है और आज हम आपको प्रकृति व मनुष्य के इसी रिश्ते का एक बड़ा सत्य दिखाएँगे और जानेंगे कि किस तरह कोई वनस्पति हमारे लिए लाभकारी सिद्ध हो सकती है. CLICK HERE TO KNOW अमृत समान गुणकारी कचनार ... 
Dhaak Palaash Ke Aushdhiya Prayog or Gun
Dhaak Palaash Ke Aushdhiya Prayog or Gun
पलाश के पौधे के अन्य नाम ( Other Names of Palaash Plant ) :
पलाश को और भी बहुत नामों से जाना जाता है. जैसे : ढाक, टेशू, पलाश, गुजराती भाषा में तो इसको खाकरा कहकर संबोधित किया जाता है और वहीँ तमिल में इसको पुगु  कुतुमुसक  किन्जुल कहा जाता है.

पलाश के औषधीय फायदे ( Aayurvedic Benefits of Palaash Plant ) :
·         पलाश के फूलों का रस ( Flower Juice of Palaash ) :
-    बलवान बच्चा पाने के लिए ( Makes Childs Strong and Healthy ) : अगर आपके घर या पड़ोस में कोई महिला गर्भ से है तो एक उपाय करें जिसके लिए आप पलाश के पुष्प को पीसकर दूध में मिला ले और फिर उसे गर्भवती औरत को पिलाये, इससे बलवान और ताकतवर संतान की प्राप्ति होती है.

-    पेशाब की बाधा दूर करें ( Removes Urinary Problems ) : अगर किसी व्यक्ति को पेशाब करते समय जलन हो रही हो या पेशाब आने में कोई और बाधा उत्पन्न हो रही हो तो पलाश के फूलों से रस निचोड़ लें और फिर एक चम्मच रस दिन में बस तीन बार पी लीजिये. CLICK HERE TO KNOW जलजमनी के औषधीय प्रयोग ... 
ढाक पलाश के औषधीय प्रयोग और गुण
ढाक पलाश के औषधीय प्रयोग और गुण
-    आँखों की रौशनी बाधाएं ( Increases Eyesight ) : पलाश का रस आँखों की रौशनी बढ़ाने में भी बहुत कारगर सिद्ध होता है. अगर आपकी आँखों की रौशनी कम है तो पलाश के फूलों का रस निकाल कर उसमे शहद मिला लें और आँखों में काजल की तरह इस्तेमाल करके सो जाये.

-    आँख आने पर करें प्रयोग ( Cures Eye Problem ) : आँख आना बहुत ही सामान्य सी बीमारी हो गई है और हर तीसरा आदमी इससे पीड़ित है. इसके उपचार के लिए फूलों के रस में शुद्ध शहद मिलाकर आँखों में डाले, ये आपको आराम देगा.

·         गाय का दूध और पलाश ( Cow Milk and Palaash ) :
-    शक्तिशाली बच्चा पाने के लिए ( Gives Childs Immense Strength ) : पलाश का पुष्प किसी भी गर्भवती औरत के लिए बहुत फायदेमंद होता है. नारी को गर्भ धारण करते ही, गाय के दूध में पलाश के पत्तो को पीस कर मिला दे, बाद में इसको नारी को पिलाते रहे तो इससे शक्तिशाली और पहलवान बालक पैदा होगा.

·         पलाश की छाल ( Bark of Palaash Plant ) :
-    अंडकोष वृद्धि को रोके ( Cures Hydrocele ) : पलाश की छाल भी कई चीजों में काम आती है जैसे की अगर अंडकोष बढ़ गया हो तो पलाश की छाल प्रयोग ले लाये, इसके लिए पलाश की छाल का 6 ग्राम चूर्ण पानी के साथ निगल लीजिये. ये आपके लिए लाभदायक सिद्ध होगा.
Medicine Uses and Qualities of Dhaak Palaash
Medicine Uses and Qualities of Dhaak Palaash
·         पलाश के बीज ( Palaash Seeds ) :
-    अनचाहे गर्भ से बचाए ( Protects from Unwanted Pregnancy ) : पलाश के द्वारा दी गई हर एक चीज प्रयोग में लाई जा सकती है चाहे वो पत्ते हो या बीज. पलाश के बीजों को केवल लेप बना कर लगाने से नारियां अनचाहे गर्भ से भी बच सकती है.

-    खुजली मिटाए ( Cures Itching ) : अगर आपको दाद या खुजली परेशान करती है तो आपको पलाश के बीजों को निम्बू के रस में पीस कर इसको लगाना चाहिये. ये सही में आपके लिए फायदेमंद होगा.

·         पलाश के पत्ते ( Palaash Leaves ) :
-    बवासीर में लाभदायी ( Good in Piles ) : बवासीर के मरीजों के लिए ये बहुत फायदेमंद उपचार होता है. कई लोग होते है जो बवासीर के इलाज के लिए अंग्रेजी दवाईयों पर भरोसा करते है और कुछ नहीं हो पाता है. इससे अच्छा आप पलाश के पत्तों का साग बना कर उस साग को ताजे दही के साथ खाए, और साग में देसी घी ज्यादा मात्रा में डालें.

-    बुखार में फायदेमंद ( Keeps Fever Away ) : अगर कभी आपको बुखार आये और आपके पास पलाश के पत्ते हो तो चिंता न करें. पलाश के पत्ते बुखार में भी कारगर सिद्ध होते है. बस पलाश के पत्तों का रस निकाल कर उसको अपने शरीर पर 10 से 15 मिनटों के लिए लगा लीजिये, सारी जलन ख़त्म हो जायगी.
पलाश को प्रयोग करने से लाभ
पलाश को प्रयोग करने से लाभ
·         पलाश का गोंद ( Glue of Palaash Bark ) :
-    घाव भरने में सहायक ( Fills Wound ) : पलाश की गोंद भी बहुत फायदें देती है. अगर आपका कोई घाव है जो भरने का नाम ही नही ले रहा हो तो उस पर पलाश के गोंद के बारीक़ चूर्ण का इस्तेमाल करे और फिर देखिये कैसे नही जाता कोई भी जिद्दी घाव.

-    पौरुष बल बढाए ( Increases Manly Power ) : इसके गोंद में बहुत सारी उर्जा होती है बस आपको चाहियें कि आपको उस उर्जा को इससे लेना आना आता हो. इसके लिए आप पलाश का 1 से 3 ग्राम गोंद मिश्रीयुक्त दूध अथवा आंवले के रस के साथ लें. इससे आपके बल और पौरुष की वृद्धि होगी और साथ ही साथ आपकी हड्डियां भी मजबूत बनेगी और शरीर भी हष्ट पुष्ट होगा.

तो इस तरह हम देख सकते है कि पलाश के हर हिस्से का कोई ना कोई आयुर्वेदिक औषधीय महत्व है जो हमे रोगों से निजात दिलाने में सहायक होता है और यही वजह है कि आयुर्वेद में इसका एक अहम स्थान है किन्तु लोगों को इसके बारे में अधिक जानकारी नहीं है.

पलाश के ऐसे ही अन्य उपाय और प्रयोगों के बारे में अधिक जानने के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते हो.
Palaash se Dur Hote hai Anke Rog
Palaash se Dur Hote hai Anke Rog

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT