इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Tamatar ki Ayurvedic Khoobiyan | टमाटर की आयुर्वेदिक खूबियाँ | Ayurvedic Qualities of Tomatoes

कोलेस्ट्राल से बचना है तो खूब खाइए टमाटर    
लाल टमाटर बड़ा ही स्वादिष्ट होता है इसे लोग बड़े चाव से खाते है. इसके बारे में बहुत से लोग अलग अलग राय देते है. कुछ लोग इसे फल बताते है तो कुछ लोग इसे सब्जी भी कहते है. चाहे जो भी हो इसके स्वाद ने सभी को दीवाना बना रखा है. इसके अनेको गुणों के कारण इसके प्रति लोगो की दीवानगी और भी बढती है.

एक अध्ययन के अनुसार जोकि यूरोप में हुआ था उससे पता चला है जो व्यक्ति भोजन करते समय भोजन में लाइकोपीन की मात्रा का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करते है वे ह्रदय घात के खतरे से बचे रहते है. उनको हृदयघात आने की सम्भावना कम हो जाती है. यह सिर्फ टमाटर खाने से ही हो सकता है क्योकि टमाटर में ही लाइकोपीन नामक तत्व पाया जाता है. वह अध्ययन जिन लोगो पर किया गया था उन लोगो में ज्यादातर प्रोढ़ावस्था के थे. और उनमे से जिन लोगो को दिल का दौरा पड़ चूका था उनकी संख्या थी 662. अध्ययन में शरीर में इस तत्व की, जो कि टमाटर में होता है, उपस्थिति की मात्रा की भी जांच की गयी थी. यह अध्ययन 1379 लोगो पर किया गया था. CLICK HERE TO READ MORE SIMILAR POSTS ...
टमाटर की आयुर्वेदिक खूबियाँ
टमाटर की आयुर्वेदिक खूबियाँ
बीटा केरोटिन एक ऐसा तत्व है जो की वसा में घुल जाता है और आंतो द्वारा सोख लिया जाता है. उसी प्रकार लाइकोपीन भी वसा में घुलनशील पदार्थ होता है. लाइकोपीन में प्रभावशाली आक्सीकरण रोधक होता है जो इसकी सुरक्षा क्रिया भी है. यह हमारे शरीर में, अपनी फ्री रेडिक्लो के द्वारा कोशिकाओ ,अणु और जींस को होने वाले नुकसान से बचाता है. ये रेडिकल्स अत्यधिक प्रतिक्रियात्मक अणु होने के कारण हमारे रक्त प्रवाह को परेशानी से पहुंचा सकते है  क्योंकि ये हमारे रक्त प्रवाह में अन्य पदार्थो को मिला  देते जिसके कारण हमें रक्त से होने वाली परेशानियाँ हो सकते है.

उदाहरण के लिए हम आपको बताते है कि एक प्रकार का पदार्थ जिसे हम कोलेस्ट्रोलिमोआ कहते है वो हमारी धमनियों में जम जाता है और इस्सके हमें एक आघात होने का खतरा बना रहता है. इसके बाद ये जेनेटिक परिवर्तन करते है और कैंसर को उत्पन्न कर सकते है. फ्री रेडिक्ल से हमें ऐसा कैंसर हो सकता है जो सूर्य के प्रकाश के कारण होता है अथवा ऐसी बीमारियाँ हो सकती है जैसे की ओजोन के प्रदुषण में सांस लेने से हो सकती है. CLICK HERE TO READ MORE SIMILAR POSTS ...
Ayurvedic Qualities of Tomatoes
Ayurvedic Qualities of Tomatoes
अगर हमें प्रदुषण भरे वातावरण से बचना है तो टमाटर का खूब इस्तेमाल करना होगा क्योंकि इसके इस्तेमाल से ही हम कोलेस्ट्राल जैसी बीमारी से बच सकते है और हृदय सम्बन्धी रोगों को भी अपने से दूर रख सकते है और स्वस्थ जीवन का भरपूर आनंद ले सकते है  

तो अब हम कह सकते है टमाटर अपने इन्ही गुणों के कारण इतना महत्वपूर्ण हो गया है की असाधारण होते हुए भी कई रोगों से निजात दिलाने में सहायक है. और इसके इस्तेमाल पर खर्च भी ज्यादा नहीं होता. यह तो हमारे आस पास ही आसानी से और कम दामो पर उपलब्ध रहता है. तो अब आप टमाटर को खूब खाइए और अपने शरीर को रोगों से दूर बनाये रखिये. 

 
Tamatar ki Ayurvedic Khoobiyan
Tamatar ki Ayurvedic Khoobiyan

 Tamatar ki Ayurvedic Khoobiyan, टमाटर की आयुर्वेदिक खूबियाँ, Ayurvedic Qualities of Tomatoes, Cholesterol Removal Tomato, Cholesterol  Niyantrit karne wala Tamatar, कोलेस्ट्रॉल नियंत्रित करने वाला टमाटर.




YOU MAY ALSO LIKE  

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT