इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Paan ke Aushdhiya Gun | पान के औषधीय गुण | Medicine Benefits and Quality of Betel

पान से रोगों का उपचार ( Betel Use to Cure Diseases )
पान का संस्कृति, परंपरा, पूजा अर्चना और टोन टोटको में बहुत अधिक महत्वपूर्ण स्थान है. सामान्यतः लोग इसे खाना खाने के बाद खाना पचने और मुंह के स्वाद के लिए खाते है. इसके अलावा धर्म संस्कार की क्रियायें ही इसके बिना संभव नही है. किन्तु बहुत कम लोग जानते है कि ये सिर्फ मुंह का जायका ही बेहतर नही करता बल्कि शरीर को अनेक तरह के रोगों से भी बचाता है और कई बीमारियों का उपचार करता है. पान को बनाने में अनेक चीजों का इस्तेमाल किया जाता है जैसे कि पान का पत्ता, कत्था, सुपारी और चुना इत्यादि, ये सब पदार्थ किसी ना किसी रूप से मुंह के लिए लाभकारी होते है. तो आज हम पान के कुछ ऐसे ही औषधीय गुणों की चर्चा करेंगे. CLICK HERE TO KNOW नाशपाती के आयुर्वेदिक फायदे और इलाज ...
Paan ke Aushdhiya Gun
Paan ke Aushdhiya Gun
·         पायरिया ( Pyorrhea ) : ऐसे बहुत से लोग है जिन्हें दाँतों में पायरिया की शिकायत होती है और जिसके लिए वे अनेक तरह की दवाइयां खाते है और अनेक तरह के परहेज करने पर विवश हो जाते है किन्तु अगर वे पान में 10 ग्रामS कपूर मिलाकर दिन में 3 से 4 बार पान का सेवन करते है तो जल्द ही इनकी पायरिया की शिकायत दूर हो जाती है. बस उनको एक बात की सावधानी ये रखनी पड़ती है कि वे कपूर मिले पान के रस को पेट में ना सटके बल्कि बाहर निकालते रहें.  

·         मुंह का स्वास्थ्य ( Healthy Mouth ) : पान मात्र पायरिया ही नही बल्कि पुरे मुंह के लिए स्वास्थ्यवर्धक होता है. क्योकि इसमें कुछ ऐसे तत्व पायें जाते है जो बैक्टीरिया के प्रभाव को कम करते है और मुंह की दुर्गन्ध को भागते है. इसमें इस्तेमाल किया जाने वाला कत्था, लौंग और इलायची मुंह को फ्रेश रखता है. जो व्यक्ति पान खाते है उनकी लार में एस्कॉर्बिक एसिड का स्टार भी सामान्य रहता है जिससे उन्हें मुंह से संबंधी किसी भी रोग से सुरक्षा मिलती है. ये मसूड़ों की गाँठ और सुजन को दूर करने में भी लाभकारी होता है. CLICK HERE TO KNOW अमरुद फल के फायदे और उपयोगिताएं ... 
पान के औषधीय गुण
पान के औषधीय गुण
·         खांसी ( Cough ) : जो व्यक्ति खांसी से परेशान रहते है उन्हें हल्दी को गर्म करके पान में लपेटना चाहियें और उसके बाद इसे चबाना चाहियें. अगर फिर भी खांसी नहीं रुक रही है तो आप हल्दी के साथ साथ अजवायन को भी मिला लें और इसे चबायें. आपको जल्द ही आराम मिलेगा.

·         जुखाम ( Common Cold ) : खांसी के साथ जुखाम का होने सामान्य बात होती है. किन्तु जुखाम को दूर करने के लिए आप पान में थोड़ी लौंग मिलवा लें. इससे जुखाम जल्दी पक जाता है और आपको आराम मिलता है.
   
·         किडनी ( Kidney ) : जिन व्यक्ति को कितनी की समस्या है वे दिन में 2 बार सुबह शाम पान को अवश्य चबायें. इससे इनके पेट का गंद साफ़ होता है और किडनी की कार्य क्षमता में वृद्धि होती है. किन्तु आपको कुछ चीजों का परहेज करना आवश्यक है जैसेकि अधिक मिर्च मसाला, शराब, अंडे मांस और ऐसी चीजें जिसे पचाने में पाचन तंत्र को काफी मेहनत करनी पड़ती है.
Medicine Benefits and Quality of Betel
Medicine Benefits and Quality of Betel
·         श्वास नली ( Breathing Tube ) : पान को श्वास संबंधी या श्वास नाली से जुडी अनेक तरह की बीमारियों ने लिए भी इस्तेमाल किया जाता है इसके लिएय आप पान का तेल निकाल लें और उसे गर्म कर लें. गर्म करने के बाद आप इस तेल से अपने सीने को सेंके या अपने सीने की मालिश करें. आप इस उपाय को 1 महीने तक अपनायें आपको खुद इसका लाभ महसूस होगा.

·         पेशाब का कम आना ( Less Urine ) : कुछ लोगो को अल्प मूत्र का रोग होता है. जिसकी वजह से उन्हें पेट संबंधी अनेक रोग अपना शिकार बना लेते है. इस समस्या से बचने के लिए आप पान के पत्तों का रस निकालकर उसे पतले दूध के साथ लें. इस तरह आपकी रुके हुए पेशाब की समस्या दूर होती है.  

·         त्वचा को निखार ( Skin Glow ) : पान के पत्तों में कुछ ऐसे एंटी ओक्सिडेंट तत्व पायें जाते है जिनसे आपकी त्वचा के रंग में निखार आता है और आपका सौंदर्य बढ़ता है. ये आपके खून को साफ़ करके आपको किल मुहांसों से भी बचाएं रखता है.
उपचार में पान का प्रयोग,
उपचार में पान का प्रयोग
·         सुजन ( Swelling ) : जिन लोगो को गठिया रोग है या शरीर के अनेक हिस्सों में सुजन है उन्हें पान की पत्ती को पीसकर उसमे अरंडी का तेल मिलाकर एक पेस्ट तैयार करना चाहियें इस पेस्ट को उन्हें उस जगह लगाना चाहियें जहाँ उन्हें सुजन की समस्या है.

·         कामोत्तेजना बढ़ाने में ( Increase Sexual Feelings ) : अपने देखा होगा कि जिन लोगो की नयी नयी शादी हुई होती है वे पान का अधिक सेवन करते है इसके पीछे का कारण ये होता है कि पान के रोजाना सेवन से आपकी काम भावना बढ़ जाती है और आप अपने साथी के साथ बिताये गये उन पलों को और भी अधिक हसीन और खुशनुमा बना सकते हो.

·         पाचन में सहायक ( Help in Digestion ) : पान सैलिवरी ग्लैंड को सक्रिय करता है जिससे मुंह में पाचन के लिए जरूरी लार बनती है और खाना आसानी से छोटे छोटे टुकड़ों में बाँट जाता है. इसका आपको कब्ज जैसे समस्या से भी निजात मिलती है.

·         अल्सर से मुक्ति ( Cures Ulcer ) : क्योकि पान पाचन तंत्र के लिए और किडनी के लिए फायदेमंद है और ये खाने को पचने के लिए लार भी बनता है तो इस तरह शरीर की आंते साफ़ रहती है और अल्सर का खतरा टल जाता है.

·         घाव भरने में पान का इस्तेमाल ( Heal Wounds ) : पान में पाया जाना वाल एनालजेसिक तत्व सर दर्द में आराम देता है साथ ही पान के पाते को घाव पर लगाने या पान के सेवन से घाव भी जल्दी भर जाता है.
Benefits of Chewing Paan
Benefits of Chewing Paan
·         सर्दी दूर भगायें ( Remove Cold ) : अगर आपको अधिक सर्दी लग रही है तो उस स्थिति में भी आप पान के पाते का प्रयोग कर सकते हो इसके लिए आप पान में थोडा सा शहद मिला लें और इसके बाद इसका आनंद लेते हुए चबायें.

·         मुंह के छाले ( Sores in Mouth ) : अगर आपक मुंह में छाले या जलन है तो आप पान का रस निकालें और उसे गर्म कर लें. इसके बाद आप इसे अपने छालों पर लगायें. आपको जरुर आराम मिलेगा.

·         भूख बढ़ाने के लिए ( To Increase Appetite ) : कुछ लोगो का वजन बहुत कम होता है तो कुछ को बहुत कम भूख लगती है किन्तु पान का नियमित रूप से सेवन करने से व्यक्ति की भूख और प्यास बढ़ जाती है और वो पेट भरकर खाना खाता है. भूख बढ़ाने के लिए अगर आप देशी पान का इस्तेमाल करते हो तो ये आपके लिए अधिक लाभदायक होगा.


पान के अन्य औषधीय फायदों के बारे में जानने के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते हो.
Paan se Rogon ka Ilaaj
Paan se Rogon ka Ilaaj
Paan ke Aushdhiya Gun, पान के औषधीय गुण, Medicine Benefits and Quality of Betel, उपचार में पान का प्रयोग, Upchar mein Paan ka Prayog, Benefits of Chewing Paan, Paan Chabane ke Fayde, Paan se Rogon ka Ilaaj, Paan, Betel, पान.


Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

1 comment:

ALL TIME HOT