इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

Aaj ke Yuvaaon ki Soch | आज के युवाओं की सोच | Thoughts of Today’s Young Men

किशोर लड़कों की बदलती सोच ( Changing Thoughts of Young Boys )
जैसे ही आजकल के लड़के युवावस्था में पहुँचते है वैसे ही उनकी सोच और सपने दोनों ही बदलने लगते है. जहाँ उन्हें जीवन में अपनी सफलता के बारे में विचार करना चाहियें वहाँ वे लड़कियों के प्रति आकर्षण, अश्लील फिल्में, शारीरिक संबंध बनाने का विचार इत्यादि चीजों में अधिक उत्साह लेने लगते है. अपने इस अति उत्साह के कारण कुछ लड़के ना जाने कितनी गलतियाँ करते रहते है, जिसका खामियाजा उन्हें बाद में उठाना पड़ता है. तो आओ जानते है कि लड़के क्या गलतियाँ करते जा रहे है. CLICK HERE TO KNOW फेसबुक का गलत इस्तेमाल ... 
Aaj ke Yuvaaon ki Soch
Aaj ke Yuvaaon ki Soch
लड़कों की बदलती मानसिकता ( Changing Mentality of Boys ) :
·     पार्कों और सिनेमाघरों में हरकत ( Wrong Deeds in Parks and Cinema Houses ) : आप किसी पार्क या सिनेमाघरों में ऐसे अनेक युवाओं को अश्लील हरकतें देख सकते हो जो अपने आसपास के लोगों की चिंता तक नहीं करते. खासतौर पर सिनेमाघरों में. वे युवा जिनकी साथी नहीं होती या जो अपनी प्रेमिका से साथ नहीं जाते वे दुसरे लोगों को छुप छुप कर देखते है क्योकि उनकी जिज्ञासा उनके ही काबू में नहीं होती. कुछ तो किसी अन्य प्रेमी जोड़े को परेशान करने लगते है. ये सब उनकी मानसिकता को दर्शाते है और दिखाते है कि आज के युवा मानसिक तौर पर कितने बीमार हो चुके है.

·     महिलाओं के अंगवस्त्र ( Watches Undergarments of Girls ) : कुछ युवा ऐसे भी होते है जो महिलाओं के अंग वस्त्रों को किसी दुसरे संसार की चीज मानते है. उनको देखने भर से उनकी कामवासना बढ़ने लगती है. अनेक ऐसे युवा भी है जो उनके अंगवस्त्रों को हाथों में लेकर तरह तरह के विचार करने लगते है जिनके कारण उनका पौरुष द्रव बिना कुछ किये ही निकल जाता है जो उन्हें मानसिक के साथ साथ शारीरिक रूप से भी कमजोर करता है. ऐसे लड़के अपने आसपास की लड़कियों के सुखाने वाले अंडर गारमेंट्स देखने की बड़ी लालसा रखते है और बार बार झांककर उनको देखने की कोशिश भी करते है. CLICK HERE TO KNOW शारीरिक कमजोरी और शीघ्रपतन ... 
आज के युवाओं की सोच
आज के युवाओं की सोच
·     फ़ोन नंबर ( Gets Phone Numbers ) : अगर किसी लड़के को किसी लड़की का नंबर गलती से कहीं प्राप्त हो जाए तो बस वे अपनी अश्लील बातों, मेसेज और वीडियोस से उस लड़की का जीना हराम कर देते है. कुछ तो ब्लेंक कॉल करके परेशान करने लगते है. किन्तु वे नहीं जानते कि इस तरह की हरकतें उनको जेल की हवा भी खिला सकती है.

·     किताबें ( Reads Books ) : क्योकि आजकल खुले आम अश्लील किताबे और विडियो सीडी बिकती रहती है तो इन युवाओं में इन किताबों को पढने की भी ललक जगती रहती है जो उनको उत्तेजित करती है. आजकल थोडा ज़माना मॉडर्न हो चूका है तो बच्चे अपने फ़ोन पर ही वीडियोस देख देखकर अपने शरीर और दिमाग को क्षति पहुंचाते रहते है. बाद में जब उनका समय आता है तो उन्हें पता चलता है कि उनका खेत तो चिड़िया चुग कर जा चुकी है.
Thoughts of Today’s Young Men
Thoughts of Today’s Young Men
·     लड़कियों के स्कूल के बाहर घूमना ( Twirls Around Girls School and Colleges ) : आप किसी भी गर्ल्स स्कूल या कॉलेज पास 12 से 2 बजे के बीच जाकर देखें, वहाँ ऐसे लड़कों की लाइन लगी रहती है और जैसे ही उनकी छुट्टी होती है बाइक पर सवार ये लड़के लड़कियों को छेड़ने की कोशिश करते है, कुछ उनके सामने स्टंट करने की कोशिश करते है तो कुछ लड़कियों को अश्लील शब्द बोलते है. लड़कों को लगता है कि उनकी ये हरकत उन्हें लड़की की नजर में उंचा कर रही है जबकि उन्हें ये नहीं पता कि उनकी यही हरकत उनके पीटने का कारण भी है क्योकि अगर उनमे से कोई भी पुलिस के हाथ आ जाएँ तो उसकी शामत आ जाती है.

·     बाथरूम में झांकना ( Peeps in Girls Washroom ) : लड़के अपनी उत्सुकता में इतना नीचे गिर जाते है कि उन्हें ना तो किसी का डर रहता है और ना ही किसी की शर्म. वे अपनी कामवासना के ज्ञान को बढाने के लिए लड़कियों के बाथरूम वाशरूम में तांक झाँक करना आरम्भ कर देते है. कुछ ये देखना चाहते है कि उनके बाथरूम लड़कों के बाथरूम से भिन्न क्यों होते है और कैसे होते है. उनकी ये हरकत भी उन्हें पीटने पर मजबूर करती है.
किशोर लड़कों की बदलती मानसिकता
किशोर लड़कों की बदलती मानसिकता
·     लड़कियों से चिपकने की कोशिश ( Tries to Stick to Girls in Public Places ) : अक्सर बसों और ट्रेनों में अधिक भीड़ होती है और उनमे लड़के और लडकियाँ दोनों को ही साथ में चढ़ना व सफ़र करना पड़ता है. तो ऐसे लड़के यहीं कोशिश करते है कि उनके पास कोई लड़की आकर खड़ी हो जाए ताकि वो उससे चिपक सके और अगर कोई लड़की उनके पास नहीं आती तो वे लड़की के पास जाने की कोशिश में लगे रहते है क्योकि उन्हें पता है कि भीड़ की वजह से कोई उनपर शक तो करेगा ही नहीं किन्तु वे भूल जाते है कि उनकी कामवासना और उत्तेजना उनसे कुछ ऐसा करवा देती है कि उन्हें वहीँ जिल्लत का सामना करना पड़ता है और कुछ को तो पब्लिक प्लेस में मुफ्त में कई लोगों से पिटाई मिलती है.

·     मोबाइल का गलत इस्तेमाल ( Bad Use of Mobile and Internet ) : मोबाइल और इन्टरनेट को बड़ी ही अच्छी सोच के साथ बनाया गया था किन्तु आजकल इसका कितना गलत इस्तेमाल होता है ये सब तो आप जानते है है. बात सिर्फ अश्लील फिल्में देखने की नहीं है कुछ युवा लड़कियों के बाथरूम में अपने फ़ोन को छिपाकर उनकी विडियो बना देते है और फिर उसे लड़की को दिखाकर उसके साथ शारीरिक संबंध बनाने की कोशिश करते है अगर लड़की इंकार करती है तो उसकी विडियो को इन्टरनेट पर डालकर उसको बेइज्जत करने की धमकी दी जाती है. तो इस तरह आज मोबाइल और इन्टरनेट का बहुत गलत इस्तेमाल किया जा रहा है.
Ashlilta ki Taraf Badhte Javan Ladken
Ashlilta ki Taraf Badhte Javan Ladken
समय के साथ सभी बड़े होते है और समय के साथ सबको उचित ज्ञान मिल ही जाता है किन्तु लड़के आजकल समय से पहले ही बड़े होते जा रहे है. अपनी युवावस्था में हम उम्र लड़की से दोस्ती होना स्वाभाविक है किन्तु वे लड़की से सिर्फ दोस्ती नहीं चाहते बल्कि कोशिश यही करते है कि जल्दी से जल्दी उसे बेडरूम तक लेकर जाया जाएँ. इसके लिए चाहे उन्हें उनके साथ जबरदस्ती ही क्यों न करनी पड जाएँ. उनकी ये हरकत उन्हें अनेक परेशानियों में डाल देती है.

अपनी काम वासना के कारण लड़के इस कद्र भटक चुके है कि वे युवावस्था में इतना अधिक पौरुष द्रव निकाल देते है कि उनका शरीर बिलकुल खत्म हो चूका होता है, किन्तु फिर भी उनकी कुंठाएं शान्ति नहीं होती बल्कि बढती चली जाती है. इस तरह बार बार वे अपनी क्रियाओं को जारी रखते है जिसका परिणाम घातक होता है और उन्हें नपुंसकता, स्वपन दोष, टेढापन, धात और सुजाक जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है. उनकी ऐसी हरकतें ना सिर्फ उनके लिए परेशानी का सबब है बल्कि ऐसे लड़के समाज के लिए भी एक ख़तरा ही होते है.

लड़कों की इन हरकतों का परिणाम ( Results of Boy’s Bad Deeds ) :
§ हर लड़का चाहता है कि वो बिंदास तरीके से जिये, वे अपने जीवन में किसी भी तरह का हस्तक्षेप नहीं चाहते, यही कारण है कि वे नशे, धुम्रपान, अश्लीलता और इधर उधर बदमाशी करने को ही बिंदास जीवन समझ लेते है. एक सर्वे के दौरान पता चला कि 75 % लडकें शादी से पहले शारीरिक संबंध बनाने के लिए राजी है और उन्हें ऐसा बिलकुल गलत लगता क्योकि उनका माना है कि उनका ये अनुभव उनके और उनकी साथी के साथ संबंध बनाते वक़्त काम आएगा और जब उनसे पूछा गया कि क्या लड़कियों को भी शादी से पहले शारीरिक संबंध बनाने चाहियें तो उन्होंने इसे गलत बताया.
Kaamuk Hoti Yuva Pidhi
Kaamuk Hoti Yuva Pidhi
§ आपको बता दें कि शादी से पहले अधिक शारीरिक संबंध बनाने या अधिक अश्लील फिल्में देखें की वजह से ऐसे लड़के नामर्दी की दवा को खोजते फिरते है और समय से पहले जवानी लाने के चक्कर में बुढापे को बुला लेते है.

§ अगर आज से 50 साल पहले पहले के लोगों की बात की जाएँ तो वे अपने शरीर का इतना अधिक ध्यान रखते थे कि वे 60 65 वर्ष की उम्र में भी शारीरिक संबंध बनाने में सक्षम होते थे किन्तु आजकल के व्यक्ति तो 45 50 साल के बाद कुछ भी नहीं कर पाते.

§ अब एक जरूरी बात ये है कि जब आप किसी लड़की को शादी करके अपने घर लाते है तो क्या आपका फर्ज नहीं बनता कि आप उनकी इच्छाओं को पूरा करें और उन्हें पूर्ण रूप से संतुष्ट करें. ये आपकी जिम्मेदारी है कि आप उनका जीवनभर साथ दें किन्तु अगर आप खुद ही अपने जीवन को तबाह कर लेंगे तो आप उनको कैसे संतुष्ट करेंगे. यही कारण है कि शादी के बाद दम्पति में झगडे होते रहते है और उनकी एक दुसरे के साथ नहीं बनती.

आजकल के युवाओं की बदलती सोच और सोच में बढती अश्लीलता के परिणामों के बारे में अधिक जानने के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते हो. 
Yuva Ladkon ki Gandi Harkaton ke Prinaam
Yuva Ladkon ki Gandi Harkaton ke Prinaam

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT