इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

Jaamun ke Khatte Mithe Aushdhiya Gun | जामुन के खट्टे मीठे औषधीय गुण | Sour and Sweat Medicine Use of Blackberries Jamun Fruit

जामुन के उपयोग ( Uses of Blackberries / Jamun Fruit )
जामुन का पेड़ एक ऐसा पेड़ है जिसके फल, गुठलियाँ, छाल और पत्ते यानी इसका हर कण अनेक तरह की बिमारियों के उपचार में लाभकारी सिद्ध हुए हैं. गुठलियों का चूर्ण हो, पत्ते हों या फिर पेड़ की छाल हो सब किसी न किसी रोगों का इलाज करते हैं. जामुन का रस भी बहुत उपयोगी है. इसके पेड़ पर फल आपको अप्रैल और मई के महीने के आसपास दिखने को मिलते है. इसमें अनेक तत्व जैसेकि आयरन, विटामिन ए और सी काफी मात्रा में पाया जाता है जिसकी वजह से हृदय रोग, लीवर, अल्सर, मधुमेह, खाँसी, दमा, रक्त विकार, पीलिया, कब्ज, उदररोग, पित्त, वायु विकार, अतिसार, दाँत और मसूढ़ों के रोगों के उपचार में बहुत लाभकारी है. CLICK HERE TO KNOW रसभरी खाएं और चिंतामुक्त हो जाएँ ... 
Jaamun ke Khatte Mithe Aushdhiya Gun
Jaamun ke Khatte Mithe Aushdhiya Gun
जामुन से रोगों का उपचार ( Treatment of Diseases by Using Blackberries ) :
  • प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाएं ( Increases Immunity Power ) : जामुन में विटामिन सी पाया जाता है जिससे शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है.

  • शरीर को रिफ्रेश करे ( Keeps You Fresh ) : जामुन से ग्लूकोज़ और फ्रक्टोज के रूप में शुगर मिलती है जो शरीर को हाईड्रेट, कूल और रिफ्रेश करती है.

  • पेट के रोग भगाए ( Removes Stomach Diseases ) : जामुन के फल को सेंधा नमक के साथ खाने से पाचन क्रिया तेज चलती है. इससे पेट के रोगों से निजात मिलती है. साथ ही जामुन शरीर की पाचन शक्ति को मजबूत भी करता है.

  • मधुमेह में लाभकारी ( Good in Diabetes ) : जामुन का चूर्ण बनाकर नियमित सेवन करने से मधुमेह के रोगियों को काफी लाभ प्राप्त होता है.

  • यकृत रोगों में दे राहत ( Gives Relief in Liver ) : यदि यकृत के रोगों से मुक्ति पाना है तो रोजाना ज़्यादा मात्रा में जामुन का सेवन करें.

  • पथरी दूर करें ( Removes Calculus ) : यदि पथरी से ग्रस्त हैं तो जामुन की गुठली का चूर्ण बनाकर दही के साथ सेवन करने से लाभ मिलता है.

जामुन के खट्टे मीठे औषधीय गुण
जामुन के खट्टे मीठे औषधीय गुण
  • मुहँ के छालों में आराम ( Cures Mouth Ulcer ) : मुँह के छालों में आराम पाने के लिए जामुन के रस का रोजाना सुबह शाम इस्तेमाल करना चाहिए.

  • एसिडिटी से छुटकारा ( Treat Acidity ) : जामुन को काला नमक और भुने हुए जीरे के चूर्ण के साथ मिलाकर खाने से पेट की एसिडिटी की समस्या से छुटकारा मिलता है.

  • दस्त दूर करे ( Cures Diarrhea ) : जिनको दस्त की गंभीर रूप से शिकायत है उन्हें जामुन के पेड़ की छाल को पीसकर बकरी के दूध में मिलाकर सेवन करना चाहिए.

  • खराश से मुक्ति ( Removes Cough ) : यदि आपको खराश या आवाज अच्छी करनी है तो जमुन की गुठली के काढ़े से रोजाना कुल्ला करना चाहिए.

  • मधुमेह पर काबू ( Controls Sugar ) : सुबह शाम जामुन की पत्तियों का घोल बनाकर पीने से मधुमेह को काबू में किया जा सकता है.

  • बच्चा बिस्तर गिला करता है ( If Child Wets Bed ) : यदि बच्चा रात को बिस्तर गीला करता है तो सुबह - शाम जामुन की गुठली का चूर्ण आधा -आधा चम्मच पानी या दूध के साथ दें.
Sour and Sweat Medicine Use of Blackberries
Sour and Sweat Medicine Use of Blackberries
  • ब्लड शुगर रोके ( Stop Blood Sugar ) : जामुन की पत्तियों में मैरिलिन पाया जाता है जिससे ब्लड शुगर को रोक जा सकता है.

  • खाने में जामुन ( Blackberry in Diet ) : जहाँ तक हो सके खाना खाने के बाद जामुन का सेवन करें. जामुन खाने के एक घंटे बाद दूध का सेवन करें.

  • कब्ज तोड़े ( Breaks Constipation ) : जामुन का सिरका रोजाना उपयोग करने से कब्ज दूर होता है और भूख बढ़ती है.

  • अपच में लाभदायी ( Good in Indigestion ) : जामुन के वृक्ष की छाल को घिसकर दिन में दो तीन बार पानी के साथ पीने से अपच दूर हो जाता है.

  • गठिया में फायदेमंद ( Beneficial in Arthritis ) : गठिया के लिए छाल को खूब उबालकर उसका लेप बना लें, लेप को घुटनों पर लगाने से आराम मिलता है.

  • रक्त साफ़ करे ( Purifies Blood ) : आप जामुन के पेड़ की छाल लें और उसे घिसकर पानी में मिलाएं. इस मिश्रण को प्रतिदिन सेवन करने से रक्त साफ होता है.
दमदार गुणों से भरा है जामुन
दमदार गुणों से भरा है जामुन
  • संग्रहणी रोग से छुटकारा दिलाये ( Removes Diarrhea ) : जामुन के पेड़ की छाल को गाय के दूध में उबालकर सेवन करने से संग्रहणी रोग दूर होता है.

  • रक्त प्रदर की समस्या में आराम ( Gives Relief in Blood Leucorrhoea ) : स्त्रियों में रक्तप्रदर की बीमारी आम होती जा रही है ऐसे में उन्हें जामुन की गुठली के चूर्ण में पच्चीस प्रतिशत पीपल की छाल का चूर्ण मिलाकर मिश्रण तैयार करना है. उसके बाद इस मिश्रण को एक - एक चम्मच की मात्रा को दिनभर में तीन बार ठंडे पानी के साथ लेने से लाभ मिलता है.

  • विषैले जानवर के काटने पर ( If any Venomous Animal Bites You ) : यदि किसी को विषैले जंतु ने काट लिया है तो उसे जामुन के पत्तियों का रस पिलाना चाहिए.

  • दांतों को करे मजबूत ( Keeps Teeth Strong ) : जामुन के पत्तों का भस्म बनाकर मंजन करने से दाँत और मसूड़े मजबूत होते हैं.

  • भूख बढाए ( Increases Appetite ) : भूख कम लगती है और कब्ज की शिकायत है तो जामुन का सिरका ताजे पानी के साथ लेने से काफी आराम मिलता है. एक हफ्ते में कब्ज की समस्या दूर हो जायेगी.
    Anek Gunon ka Khajan Hai Jamun
    Anek Gunon ka Khajan Hai Jamun
  • शारीरिक शक्ति प्रदान करे ( Gives you Physical Strength ) : यदि किसी को शारीरिक दुर्बलता, योन और स्मरण शक्ति की समस्या है तो जामुन के रस के साथ शहद और गुलाब के फल का रस दो माह तक रोजाना सेवन करें.

  • उल्टी दस्त में आराम दिलाये ( Gives Relief in Vomiting ) : जब कभी उलटी, दस्त या हैजे की शिकायत हो तो दो चम्मच जामुन के रस में दो चम्मच शरबत और दो चम्मच अमृतधारा मिलाकर पीने से तुरंत राहत मिलती है.

  • पेचिस दूर करें ( Removes Dysentery ) : जामुन की गुठली का एक चम्मच चूर्ण दिन में दो या तीन बार लेने से पेचिस की समस्या से निजात मिलती है.

जामुन के ऐसे ही अन्य स्वास्थ्यवर्धक लाभदायी गुणों और फायदों को जानने के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते हो. 
Swasth Rahne ke liye Jane Jamun ke Fayde
Swasth Rahne ke liye Jane Jamun ke Fayde

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT