इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Kya Aapka Liver Sahi Kaam Nahi Kar Rahaa Hai? | क्या आपका लीवर सही काम नहीं कर रहा है? | Is Your Liver not Working Properly?

क्या आपका लीवर सही काम नहीं कर रहा है?
Friends, वैसे तो शरीर के हर अंग का सही से काम करना बहुत आवश्यक है किन्तु लीवर शरीर का वो हिस्सा है जिसके कार्य में आई छोटी सी भी बाधा को अनदेखा नही किया जा सकता लेकिन अगर आप जानकार भी लीवर को अनदेखा करते हो तो समझे आपके लिए खतरे की घंटी बज गयी. लगभग हर व्यक्ति लीवर के खराब होने के कारणों को जानता है मतलब ज्यादा तलाभुना खाना, शराब पीना, अधिक मिर्च मसाले खाना, धुम्रपान इत्यादि आदतें लीवर को खराब करती है किन्तु लीवर में आई खराबी के लक्षणों के बारे में बहुत कम जानते है.

कुछ लोग ऐसे भी होते है जो सोचते है कि अगर वे कोई नशा नहीं करते तो उनका लीवर स्वस्थ है लेकिन वे लोग जान लें कि अगर मुहँ से बदबू भी आती है तो भी आपका लीवर खराब हो सकता है. इस विडियो में आज हम लीवर के ख़राब होने पर दिखने वाले लक्षण और उसके उपचार के घरेलू उपायों के बारे में आपको बताएँगे तो आइये शुरुआत लीवर के उपचार से करते है. CLICK HERE TO KNOW आपका लीवर सही है या नहीं ...
Kya Aapka Liver Sahi Kaam Nahi Kar Rahaa Hai?
Kya Aapka Liver Sahi Kaam Nahi Kar Rahaa Hai?

लीवर को स्वस्थ रखने के घरेलू उपाय :
·         हल्दी : हल्दी आयुर्वेद का एक अहम् अंग है क्योकि इसमें एंटी ऑक्सीडेंट और एंटी सेप्टिक तत्व मौजूद होती है, साथ ही इसमें रोग निवारण की गजब की क्षमता भी होती है, ये अनेक वायरस को बढ़ने से रोकती है और यही वजह है कि हल्दी लीवर के स्वस्थ को भी बनाये रखती है. हल्दी का प्रयोग करने के लिए आप रात को सोने से पहले 1 ग्लास दूध में थोड़ी सी हल्दी मिलाकर रोजाना पियें.

·         मुलेठी : आयुर्वेदिक औषधियों में मुलेठी का प्रयोग अनेक रोगों के उपचार के लिए किया जाता है. ये लीवर को भी हर रोग से दूर रखने में इस्तेमाल होती है. इसका प्रयोग करने के लिए आपको मुलेठी की जड़ को पीसकर पाउडर तैयार कर लेना है और फिर 1 चम्मच पाउडर को उबलते पानी में डालकर एक चाय तैयार करनी है. इस चाय को ठंडा हो जाने पर पियें. ये चाय आपको दिन में दो बार जरुर पीने चाहियें.

·         सेब का सिरका : अकसर लीवर के खराब होने का कारण उसमें मौजूद विषैले पदार्थ भी होते है जिन्हें बाहर निकालना बहुत आवश्यक है और इस कार्य में सेब का सिरका आपकी मदद कर सकता है तो आप खाना खाने से पहले 1 ग्लास पानी लें और उसमें 1 चम्मच सेब का सिरका मिलाकर पियें. आप सेब के सिरके के स्थान पर शहद का प्रयोग भी कर सकते हो लेकिन सेब का सिरका सर्वश्रेष्ठ है.

·         अलसी के बीज : अलसी में ओमेगा 3 एसिड फैटी एसिड प्रचुर मात्रा में पाया जाता है. इसके बीज होर्मोनस को ब्लड में नहीं घुमने देते ताकि लीवर पर तनाव ना आ जाए. अलसी के बीजों को इस्तेमाल करने के लिए आप इन्हें पीसकर पाउडर तैयार कर लें और सलाद पर छिड़ककर, टोस्ट पर लगाकर, अनाज या दही में मिलाकर किसी भी रूप में खा सकते हो लेकिन आप दिन में ½ चम्मच अलसी से ज्यादा ना खाएं.

अन्य सुझाव :
-    लीवर को रोगों से मुक्त रखने के लिए आप रोजाना 2 चम्मच पपीते के रस में ½ चम्मच नीबू का रस मिलाकर पियें. ये उपाय लीवर सोरायसिस से परेशान लोगों को जरुर अपना चाहियें. 3 से 4 सप्ताह में आपको पूरी तरह से आराम मिल जाएगा.

-    सेब और पत्तेदार सब्जियां पेक्टिन से भरपूर होती है जो पाचन तंत्र और लीवर दोनों को स्वस्थ रखकर उनकी रक्षा करता है. साथ ही हरी सब्जियाँ पित्त के प्रवाह को भी बढ़ाती है इसलिए आप हरी सब्जियों और सेब को अपने आहार में शामिल करें.

-    आप पालक के रस और गाजर के रस को बराबर मात्रा में मिलाएं और उसको रोजाना पियें. इससे लीवर की मरम्मत होती है और वो प्राकृतिक रूप से स्वस्थ होता है.

लीवर खराब होने पर लक्षण :
-    मुहं से दुर्गन्ध : अगर लीवर सही से काम ना करे तो मुहँ में अमोनिया अधिक बनने लगता है जिसके कारण मुहं से अधिक बदबू आती है. CLICK HERE TO KNOW शराब के दुष्प्रभाव या बुरे प्रभाव ... 
क्या आपका लीवर सही काम नहीं कर रहा है?
क्या आपका लीवर सही काम नहीं कर रहा है?

-
    पाचन तंत्र में गड़बड़ी : लीवर में खराबी के कारण उसमें वसा जमने लगती है जो पाचन तंत्र पर असर डालती है और खाना अच्छी तरह हजम नहीं हो पाता.

-    पेशाब का रंग बदलना : लीवर के अधिक क्षतिग्रस्त होने पर पेशाब का रंग गहरा होने लगता है और ऐसा लगातार होता रहता है.

-    आँखों का पीला पड़ जाना : कुछ मामलों में देखा गया है कि आँखों का सफ़ेद भाग और नाख़ून तक पीले हो जाते है. ये एक ऐसी स्थिति होती है जब लीवर का अधिकाँश हिस्सा संक्रमित हो जाता है.

-    मुहं में कडवाहट : लीवर बाईल जूस बनाता है जिसका स्वाद कडवा होता है. अगर लीवर में कोई रोग या समस्या हो जाती है तो वो अधिक मात्रा में बाईल जूस बनाने लगता है जिसके कारण मुहं तक कडवाहट पहुँच जाती है. इसके अलावा पेट में सुजन भी होने लगती है.

-    त्वचा रोग : त्वचा पर धब्बे, आँखों के नीचे की स्किन का काला पड़ जानाचेहरे की रंगत उड़ जाना भी लीवर के ही लक्षणों में शामिल है.

इस तरह आप भी कुछ घरेलू आयुर्वेदिक उपायों को अपनाकर अपने लीवर को स्वस्थ रख सकते हो. तो आप भी आयुर्वेद अपनाएँ स्वास्थ्य अपनाएँ क्योकि आयुर्वेद ही एक ऐसी चिकित्सा पद्धति है जो रोगों को जड़ समेत खत्म करती है.

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT