इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Garm Dudh or Shahad Dur Kare Nil Shukraanu | गर्म दूध और शहद दूर करे नील शुक्राणु | Honey and Hot Milk to Increase Sperm Count

गर्म दूध और शहद दूर करे नील शुक्राणु
Friends, आपने इस बात को नोटिस जरुर किया होगा कि हर बड़ा बुजुर्ग व्यक्ति बच्चो और युवाओं को दूध पीनी की सलाह अवश्य देता है. उनकी इस सलाह के 2 कारण होते है पहला तो ये कि दूध में कैल्शियम व अन्य अनेक पौषक तत्व होते है जो हड्डियों को मजबूत बनाने के साथ साथ शरीर को शक्ति प्रदान करते है. वहीँ दूसरा कारण ये है कि दूध शरीर में शुक्राणुओं की संख्या को बढाता है.

दूध के अलावा शहद भी एक ऐसी आयुर्वेदिक औषधि है जो नपुंसकता और बांझपन दोनों समस्याओं से निजात दिलाने में समर्थ है. माना जाता है कि अगर आप गुनगुने दूध में शहद मिलाकर पीते है तो इससे प्रजनन शक्ति बढती है और उसका स्तर बढ़कर तुरंत 0 से 60 मिलियन शुक्राणु तक पहुँच जाता है.

वैसे आपको बता दें कि शुक्राणु पुरुषों की असली ताकत होती है इसीलिए शुक्राणुओं को कभी भी व्यर्थ में नष्ट ना करें. एक स्टडी के अनुसार 18 से 50 वर्ष की आयु के पुरुषों में 10% तक शुक्राणुओं की कमी होती है. लेकिन अगर आप दूध में शहद मिलाकर पीते हो तो आप आसानी से Low Sperm Count की समस्या से निजात पा सकते हो. CLICK HERE TO KNOW मर्दाना ताकत में वृद्धि के लिए क्या करें ...
Garm Dudh or Shahad Dur Kare Nil Shukraanu
Garm Dudh or Shahad Dur Kare Nil Shukraanu

पुरुषों के सेक्स होर्मोनस को बनाने के लिए जरूरी है कि शरीर में विटामिन ए प्रयाप्त मात्रा में हो. दूध और शहद दोनों ही विटामिन ए के अच्छे स्त्रोत माने जाते है
, साथ ही इनमे एंटीऑक्सीडेंट गुण भी निहित होते है जो कोशिकाओं को फ्री रेडिकल से होने वाली हानि से बचाने का काम करते है. दूध उस नालिका को भी हानि से बचाता है जिससे वीर्य बाहर निकलता है. इसलिए आप दूध का सेवन अवश्य करें.

वहीँ शुद्ध शहद में जिंक और विटामिन ई भी प्रचुर मात्रा में होते है जो पौरुष और प्रजनन स्वास्थ्य को उत्तम रखने के साथ साथ यौन उत्तेजना को भी बढाता है. तो आइये जानते है कि आप इस दूध को कैसे तैयार करना है.

शहद का दूध तैयार करने की विधि :
सबसे पहले तो आप 1 ग्लास दूध लें और उसे एक भगोने में डालकर उसे अच्छी तरह से उबाल लें. अगर आप गाय का दूध इस्तेमाल करते हो तो सर्वश्रेष्ठ रहेगा. जब दूध अच्छी तरह उबल जाए तो आप दूध को थोडा हिलाए ताकि वो गुनगुना हो जाए. अब आप इसे 1 ग्लास में छानें और तरडे लगाएं.

अब आपको दूध में 2 चम्मच शहद मिलाना है. ध्यान रहे कि आप गर्म दूध में शहद ना मिलाये बल्कि उसे गुनगना होने दें फिर शहद मिलाएं. इस दूध का सेवन आप दिन में 2 बार करें. धीरे धीरे आपके शुक्राणुओं में वृद्धि होनी आरंभ हो जायेगी और अगर शरीर में कोई आपूर्ति होगी तो ये दूध उसे भी पूरा करता है.

शुक्राणुओं की संख्या में कमी के कारण :
शुक्राणुओं को बनने और उनकी संख्या को बढाने के बारे में जानने के साथ साथ आप ये भी जरुर जान लें कि आखिर शुक्राणुओं में कमी ही क्यों आती है. ताकि आप शुक्राणुओं की संख्या को कम ही ना होने दें. शुक्राणुओं की संख्या में कमी के मुख्य कारण है -

-    नींद में अभाव मतलब पूरी नींद ना लेना

-    शारीरिक या फिर मानसिक तनाव

-    शरीर में जिंक की कमी

-    कैंसर रोग

-    मोटापा

-    नशा करना

-    हार्मोन्स में असंतुलन और

-    अधिक साइकिल चलाना  CLICK HERE TO KNOW पुरुषों में बांझपन के लक्षण ... 
गर्म दूध और शहद दूर करे नील शुक्राणु
गर्म दूध और शहद दूर करे नील शुक्राणु

शुक्राणुओं की संख्या बढाने के अन्य उपाय :
आहार : अगर आप चाहते है कि आपका शरीर ठीक प्रकार से काम करे, स्वस्थ ताकतवर रहे तो आप अपने खाने में पौषक तत्वों की संख्या को बढ़ा दें. इसलिए तीखे, खट्टे, गर्म और नमकीन खाद्य पदार्थों का सेवन बिलकुल ना करे क्योकि इन खानों से पित्त कुपित होता है जिससे वीर्य की हानि होती है और नपुंसकता की संभावना बढ़ जाती है. इनके स्थान पर आप विटामिन बी12, विटामिन सी, विटामिन ई और फोलिक एसिड से भरपूर खाद्य पदार्थो को अपने आहार में शामिल करे क्योकि ये स्पर्म काउंट को बढाता है और स्पर्म की गुणवत्ता में भी इज्जाफा करता है.

नींद : रोजाना कम से कम 8 घंटे की नींद अवश्य लें क्योकि नींद शरीर की थकान और मानसिक तनाव को दूर करती है. वहीँ अगर आप प्रयाप्त नींद नहीं लेते है तो ये होर्मोन्स में असंतुलन का कारण बनती है जो नपुंसकता का कारण बनता है. अगर आप सोते वक़्त खराटे लेते है तो उससे भी शुक्राणुओं में कमी आ सकती है क्योकि खर्राटों का कारण है सही से सांस ना ले पाना जिससे शरीर में ऑक्सीजन की कमी हो जाती है इसलिए रोजाना प्राणायाम भी अवश्य करें. 

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT