इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Sarson ka Ye Lep Dilaye Raahat Turant Dard mein Arthritis ke | सरसों का ये लेप दिलाये राहत तुरंत दर्द में अर्थराइटिस के | Mustard Paste for Immediate Relief in Arthritis and Joint Pain

सरसों का ये लेप…! दिलाये राहत तुरंत दर्द में अर्थराइटिस के
दोस्तों आज की विडियो में हम आपको 3 ऐसे विशेष घरेलू नुस्खों से परिचित करायेंगे जो अर्थराइटिस के दर्द में तुरंत राहत प्रदान कर जोड़ों में नया यौवन व जीवन भरते है.   

पहले प्रैक्टिकल नुस्खे में हम सरसों के तेल, शहद, नमक और बेकिंग सोडा से एक लेप तैयार करेंगे जो हड्डियों व मांसपेशियों को मजबूत व लचीला बनाकर जोड़ों के दर्द व सुजन को दूर करता है.

जबकि दुसरे उपाय में हमे गठिया रोग की अकडन व ऐठन को दूर करने के लिए मेथी, देशी घी और सूजी से लडडू तैयार करने है.

वहीँ तीसरे उपाय में हम अखरोट, काले तिल और अदरक से एक पाउडर तैयार करेंगे जो तुरंत अर्थराइटिस के दर्द के निवारण में लाभदायी होता है.  

अर्थराइटिस के लिए सरसों का लेप :
आवश्यक सामग्री :
-    2 चम्मच सरसों का तेल
-    1 चम्मच शहद
-    1 चम्मच नमक
-    1 चम्मच बेकिंग सोडा

लेप तैयार करने की विधि :
सरसों के इस लेप को तैयार करने के लिए आप एक बाउल में 2 चम्मच सरसों का तेल ले लें, फिर उसमें बाकी सामग्री मतलब 1 चम्मच शहद, 1 चम्मच नमक और 1 चम्मच बेकिंग सोडा मिलाकर एक गाढ़ा लेप तैयार कर लें.

प्रयोग विधि :
इस लेप को आप अपने जोड़ों पर लगाएं और 15 से 20 मिनट तक हल्की हल्की मसाज करें. 20 मिनट बाद आप इसे साफ़ कर लें. ये उपाय आपको दिन में 2 बार अपनाना है, इसका लगातार प्रयोग अर्थराइटिस को जड़ से खत्म कर देता है और आपके जोड़ों को मजबूती प्रदान करता है. दरअसल सरसों में सेलेनियम व मैग्नेशियम और एंटी इन्फ्लेमेटरी तत्व निहित होते है, जो शरीर से नुकसानदेह जहर को बाहर निकालते है. साथ ही आयुर्वेद के अनुसार सरसों की तासीर गर्म होती है और जब इसे प्रभावित क्षेत्रों पर लगाया जाता है तो वहाँ तापमान बढ़ जाता है और दर्द में राहत मिलती है. इसीलिए सरसों का ये जोड़ों के दर्द/आर्थराइटिस में बहुत फायदेमंद और लाभदायी माना जाता है.

गठिया रोग के लिए लड्डू :
गठिया रोग में मेथी का बहुत अधिक उपयोग किया जाता है, तो आप 1 चम्मच मेथिदाने का पाउडर लें और उसकों 3 चम्मच देशी घी में भुन लें. अब आप इसमें 1 से ½ चम्मच सूजी मिलाएं और एक लड्डू तैयार कर लें. इस लड्डू को रोजाना प्रातःकाल दूध के साथ खाएं, जल्द ही आपके जोड़ों के दर्द सुजन और अकडन दूर होगी. ये उपाय सर्दियों में अधिक लाभदायी होता है क्योकि सर्दियों में जोड़ों में ऐठन अधिक होती है.  CLICK HERE TO KNOW जोड़ों के दर्द का इलाज ... 
सरसों का ये लेप…! दिलाये राहत तुरंत दर्द में अर्थराइटिस के
सरसों का ये लेप…! दिलाये राहत तुरंत दर्द में अर्थराइटिस के

जोड़ों में दर्द के लिए पाउडर :
आप 1 चम्मच पीसी हुई अदरक लें और उसमें 2 चम्मच पिसे हुए अखरोट और 4 चम्मच पिसे हुए काले तिल मिलाएं. तीनों सामग्रियों के मिश्रण से तैयार पाउडर आप रोजाना सुबह व शाम, गर्म पानी के साथ 20 ग्राम की मात्रा में खाएं. ये उपाय हड्डियों व मांसपेशियों को अंदर से मजबूती देता है, उन्हें लचीला बनाता है, जिससे दर्द में तुरंत आराम मिलता है. साथ ही इसका नियमित सेवन अर्थराइटिस को जड़ से खत्म करने में भी मदद करता है.

अन्य उपाय :
-    आप पुदीने के कुछ पत्ते और थोड़े से सूखे पुदीने को 1 गिलास पानी में डालकर उबालें, जब पानी आधा रह जाए उसे पियें. जल्द ही गठिया रोग के दर्द में आराम मिलेगा.

-    नीम्बू को भी गठिया रोग में बहुत उपयोगी माना जात है तो आप प्रातःकाल 1 गिलास पानी में और उसमें नीम्बू का रस व शहद मिलाकर पियें. इस ड्रिंक को पीने के बाद आप सैर करने के लिए जाएँ ये उपाय आपके जोड़ों की अकडन को खोलकर उनमे नयी जवानी भरता है.

-    अर्थराइटिस से परेशान रोगियों को अचार, दही, इमली, सिरका, तैलीय पदार्थ व चावल नहीं खाने चाहियें क्योकि ये वायु को कुपित करते है जिससे दर्द व अकडन बढती है. इनके स्थान पर आप टमाटर, घीया, पेठा, खीरा, खरबूजा और अंकुरित अन्न का सेवन करें.

अर्थराइटिस एक ऐसा रोग है जिसमें व्यक्ति के जोड़ों में दर्द, अकडन, सुजन और ऐठन हो जाती है और उसे चलने फिरने उठने बैठने में समस्या होने लगती है. कई बार तो दर्द इतना अधिक हो जाता है कि पीड़ित कराहने तक लगता है. जिससे बचने के लिए रोगी पेन किलर के इंजेक्शन व दवाएं लेने लगता है किन्तु जब तक इस रोग को पूरी तरह से ठीक ना किया जाये तब तक पीड़ित स्वस्थ व तंदुरुस्त महसूस नहीं कर सकता, साथ ही लम्बे समय तक पेन किलर लेने से भी अनेक रोग शरीर को घेर लेते है. इसलिए आप विडियो में बताये सरसों के लेप व अन्य उपायों को अपनाएँ, ताकि अर्थराइटिस को परमानेंट खत्म किया जा सके और आपके जोड़ों को नयी ताकत, नयी जवानी मिले.

जोड़ों के दर्द गठिया रोग के अन्य उपाय व तरीकों के बारे में अधिक जानने के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते हो. 





YOU MAY ALSO LIKE

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

No comments:

Post a Comment

ALL TIME HOT