इस वेबसाइट पर किसी भी तरह के विज्ञापन देने के लिए जरूर CONTACT करें. EMAIL - info@jagrantoday.com

SUBSCRIBE FOR ALL SCIENCE EXPERIMENTS. KIDS AND YOUNG STUDENTS CAN LEARN BETTER FROM THESE PRACTICAL EXPERIMENTS OF SCIENCE:


https://www.youtube.com/channel/UCcXJEycifFbZEOS2PHNAZ9Q

विज्ञानं की सभी ज्ञानवर्धक प्रक्टिकाल्स के लिए अभी सब्सक्राइब करें दिए गये इस चैनल को

Phoda Sujan or Ghaav ka Aayurvedic Illaj | फोड़ा सुजन और घाव का आयुर्वेदिक इलाज | Aayurvedic Remedies for Inflammation Wound and Pimple

घाव में सुजन का इलाज ( Treat Inflammation in Wound )
अक्सर खेलते वक़्त या कोई कार्य करते वक़्त छोटी मोटी चोटें तो लगती ही रहती है यही चोटें कभी कभी घाव, फोड़े या गाँठ का रूप ले लेती है जिनमें सुजन होना भी आम बात होता है, किन्तु इनके प्रति लापरवाही किसी बड़ी बिमारी को जन्म दे सकती है इसलिए जरूरी है कि समय पर ही इनका उपचार कर लिया जाएँ. आज हम आपको कुछ घरेलू आयुर्वेदिक तरीकों से इनके उपचार के बारे में बताने जा रहे है. CLICK HERE TO KNOW हर प्रकार की गाँठ का इलाज ... 
Phoda Sujan or Ghaav ka Aayurvedic Illaj
Phoda Sujan or Ghaav ka Aayurvedic Illaj
सुजन ( Swelling ) :  
·     एरंड के पत्ते ( Castor Leaves ) : अगर आपके घाव में सुजन है तो उसे खत्म करने के लिए आपको एरंड के पत्तों से तेल निकालकर उसे गर्म करना है, जब वो गुनगुना हो जाएँ तो आप उसे सुजन वाली जगह पर लगाएं और ऊपर से कोई सूती कपड़ा या गर्म पट्टी बाँध दें.

·     अनानास ( Pineapple ) : उम्र के बढ़ने के साथ साथ शरीर में अनेक तरह के रोग घर कर लेते है, कुछ लोगों के तो पुरे शरीर में सुजन रहने लगती है, ऐसे लोगों को 15 दिनों तक रोज अनानास के फल का सेवन करना चाहियें. इन 15 दिनों के भीतर ही उनके शरीर की सारी सुजन दूर हो जायेगी. वे चाहे तो सुजन खत्म होने के बाद भी फल का सेवन कर सकते है.

·     पुदीना ( Peppermint ) : अगर आपकी पिंडलियों में सुजन रहती है तो आपको 100 ग्राम चुने के पानी में 6 ग्राम पिसा हुआ पुदीना डालकर पीना है. इसका कुछ दिनों तक सेवन करने से आपको पिंडलियों की सुजन से राहत मिलती है. CLICK HERE TO KNOW घर बैठे मुंहासों से छुटकारा पायें ... 
फोड़ा सुजन और घाव का आयुर्वेदिक इलाज
फोड़ा सुजन और घाव का आयुर्वेदिक इलाज
·     हरी मकोय ( Green Solanum Nigrum ) : एक अन्य उपाय के अनुसार आप हरी मकोय का अर्क लें और उसमें थोडा सा अमलतास का पीसा हुआ गुदा मिलाएं. इनसे तैयार लेप को आप उस स्थान पर लगाएं जहाँ आपको सुजन है. धीरे धीरे सारी सुजन कम हो जायेगी.

·     ग्वारपाठा ( Aloe Vera ) : आप ग्वारपाठे का एक टुकडा लें और उसे थोडा सा छील लें, अब आप उसपर पीसी हुई हल्दी डाल लें और आग पर गर्म करें. इसके बाद आप इसे सुजन वाली जगह पर बाँध लें, इसके 3 4 बार के प्रयोग से ही सुजन खत्म होनी आरम्भ हो जाती है.

·     आक के पत्ते ( Aak Leaves ) : ठीक इसी तरह आक के पत्तों पर तिल का तेल चुपड लें और उसे भी गर्म करके जोड़ों पर इस्तेमाल करें. ये सुजन और गठिया रोग दोनों को ठीक करता है.
कैसा भी हो घाव अपनायें ये नुस्खे
कैसा भी हो घाव अपनायें ये नुस्खे
फोडे फुंसियाँ ( Pimples ) :
·     अरहर की दाल ( Tur Pulse ) : जब तक फोड़ा रहता है तब तक दर्द करता रहता है और बार बार उसे फोड़ने का मन करता है. अगर फोड़ा मुहँ पर हो तो आप कहीं जाने के लायक भी नहीं रहते. इस स्थिति में आप जल्दी पकाने के लिए एक उपाय को अपना सकते है, जिसके अनुसार आप कुछ अरहर की दाल लें और पानी में पीसें, अब इस मिश्रण में थोडा सा नमक मिलाकर हल्का गर्म करें और फोड़े के ऊपर बांधें. इस उपाय को आपको दिन में 2 बार अपनाना है जल्द ही फोड़ा पक जाएगा और खुद ही फुट भी जाएगा.

·     नारियल ( Coconut ) : इसके अलावा आप नारियल की पुरानी सुखी हुई गरी का एक हिस्सा और इस हिस्से के चौथाई हिस्से जितनी हल्दी लें, दोनों को बारीक पिसें और एक पोटली में बांधें. इस पोटली से फोड़े को सेंकें, आपको राहत मिलेगी.

·     गाजर का रस ( Carrot Juice ) : फोड़े फुंसियों से बचने का सबसे अच्छा तरीका है कि रोजाना कच्ची गाजार का 50 ग्राम जूस पी लिया जाएँ. क्योकि इसमें पायें जाने तत्व खून को साफ़ करते है जिससे फोड़े फुंसियाँ नहीं होती.
Aayurvedic Remedies for Inflammation Wound and Pimple
Aayurvedic Remedies for Inflammation Wound and Pimple
·     नीम के पत्ते ( Neem Leaves ) : नीम के औषधीय गुण हर रोग निवारण का माध्यम है, आप उसके 15 ग्राम पत्तों को पीसकर एक लुगदी तैयार करें और उसमें घोंट लगाएं. इस तरह एक मलहम बन जाएगा. जिसमें आप 6 ग्राम की मात्रा में पिसा हुआ कपूर मिलाएं. अब इस लेप को आप फोड़े फुंसी, किल मुंहासे या घाव पर लगाएं. इसके 3 4 बार के प्रयोग से ही आपको लाभ मिलना आरम्भ हो जाएगा.

·     पीपल के पत्ते ( Peepal Leaves ) : आप कुछ पीपल के पत्तों पर देशी घी लगाएं और उसे गर्म करें, अब आप इन्हें फोड़े या फुंसियों पर बांधें, इस तरह फोड़े या फुंसियाँ जल्द ही पक जायेंगी और फुटकर ठीक हो जायेंगी.

·     धतूरे का पत्ता ( Hare Leaves ) : फोड़े वाली जगह पर धतूरे के पत्तों को गर्म करके बाँधने से वो जल्द ही फुटकर ठीक हो जाता है.

·     गिलोय ( Tinospora ) : इसके अलावा आप गिलोय का काढा तैयार करें और उसे रोजाना पियें. इससे भी फोड़े फुंसियाँ होने की संभावना खत्म होती है, साथ ही ये हर तरह के चर्म रोग को भी दूर करता है.
Ghaav mein Suajn ka Upchar
Ghaav mein Suajn ka Upchar
घाव ( Wounds ) :
·     पुदीना ( Mint ) : अक्सर घाव में कीड़े हो जाते है जो घाव की स्थिति को और अधिक खराब कर देते है. अगर किसी के घाव में कीड़े होते है तो उन्हें घाव पर पुदीने के अर्क को टपका लेना चाहियें. इससे जल्द ही सारे कीड़े नष्ट हो जाते है और घाव भी भरने लगता है.

·     तम्बाकू ( Tobacco ) : तम्बाकू शरीर के लिए कितना हानिकारक होता है ये तो हम सभी जानते है किन्तु क्या आप इस बात को जानते है कि अगर इसके हरे पत्तों को सेंकने के बाद अंडकोषों पर बांधा जाएँ तो उनकी सुजन कम होती है. इसके अलावा एक अन्य उपाय भी है जिसमें आप इसके पत्तों से रस निकालकर समान मात्रा में तिल का तेल मिलाएं, उसके बाद उसको पकाएं, जब सिर्फ तेल रह जाए तो उसे छान लें और घाव पर इस्तेमाल करें. घाव शीघ्र ही भरने लगेंगे.

·     गिलोय ( Tinospora ) : आप गिलोय की पत्तियों को सुखाकर उन्हें जलाएं, इस राख को घाव पर छिडकें, ये राख तुरंत खून के बहाव को बंद करती है और घाव को सूखने में मदद करती है.

घाव फोड़े फुंसियों और सुजन को कम करने के ऐसे ही अन्य घरेलू आयुर्वेदिक उपायों को जानने के लिए आप तुरंत नीचे कमेंट करके जानकारी हासिल कर सकते हो.
Naasur Ghavon ko Mitane ka Tarika
Naasur Ghavon ko Mitane ka Tarika

Dear Visitors, आप जिस विषय को भी Search या तलाश रहे है अगर वो आपको नहीं मिला या अधुरा मिला है या मिला है लेकिन कोई कमी है तो तुरंत निचे कमेंट डाल कर सूचित करें, आपको तुरंत सही और सटीक सुचना आपके इच्छित विषय से सम्बंधित दी जाएगी.


इस तरह के व्यवहार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद !


प्रार्थनीय
जागरण टुडे टीम

4 comments:

  1. stan ko upar phode huye he. ispar upay bataye.

    ReplyDelete
    Replies
    1. Yogesh Thakur Ji,

      Aap post mein diye Neem ki pattiyon or Giloy vaale upay ko apnaayen or kisi trah ka doubt hone par dobara comment avashya karen.

      Sampark ke Liye Dhanyavaad
      Jagran Today Team

      Delete
    2. 3 years ke bache ko phore hokar pure sharir me phel gaya he or wo thik nahi ho raha he, or wo phore pure sharir me hokar phoot gaya ke bachha bahu takliph me ho kiripya iska illage bataye....

      Delete
  2. Phoda hokar phoot kar pure sharir me phel gaya he, ab pure sharir me ho gaya he or wo thik nahi ho raha, kiripya iska illage bataye
    Chhote bache ko huwa umr 3 years ka he

    ReplyDelete

ALL TIME HOT